देश/विदेशमध्यप्रदेशमेरा गांव मेरा शहरलेख-आलेख

भारत के 10 टॉप स्वच्छ शहर MP के इंदौर शहर ने छठी बार खिताब जीता

Swachh Survekshan: भारत में स्वच्छ सर्वेक्षण-2022 की लिस्ट जारी हो चुकी है. इस साल MP के इंदौर ने लगातार छठी बार बाजी मारी है. इंदौर फिर से देश का सबसे साफ-सुथरा शहर बना है.

Swachh Survekshan 2022: गांधी जयंती यानी 2 अक्टूबर की पूर्व संध्या पर स्वच्छता सर्वेक्षण की लिस्ट जारी हो गई है. इस साल भी MP के इंदौर ने बाजी मारी है. इंदौर लगातार छठी बार देश का सबसे साफ शहर बना है. वहीं इस साल दूसरे नंबर पर गुजरात का सूरत और तीसरे नंबर पर महाराष्ट्र का नवी मुंबई शहर रहा है. राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू ने स्वच्छता सर्वेक्षण-2022 की सूची जारी की.

मध्यप्रदेश सबसे साफ राज्य

स्वच्छता सर्वेक्षण-2022 में मध्यप्रदेश फिर से एक बार देश का सबसे साफ राज्य बना है. वहीं, सबसे साफ राज्यों की सूची में छत्तीसगढ़ दूसरे और महाराष्ट्र तीसरे नंबर पर है. इस साल टॉप-10 स्वच्छ शहरों की लिस्ट में राजधानी दिल्ली भी शामिल है. वहीं, यूपी का नोएडा भी इस बार 11 वें स्थान पर रहा है.

देश के टॉप-10 स्वच्छ शहर

1- इंदौर (मध्यप्रदेश)

2- सूरत (गुजरात)

3- नवी मुंबई (महाराष्ट्र)

4- विशाखापट्नम (आंध्र प्रदेश)

5- विजयवाड़ा (आंध्र प्रदेश)

6- भोपाल (मध्यप्रदेश)

7- तिरुपति (आंध्र प्रदेश)

8- मैसूर (कर्नाटक)

9- नई दिल्ली (दिल्ली)

10- अंबिकापुर (छत्तीसगढ़)

 राष्ट्रपति मुर्मू ने किया सम्मानित

सर्वेक्षण के परिणामों के अनुसार, 100 से कम शहरी स्थानीय निकायों वाले राज्यों में त्रिपुरा ने शीर्ष स्थान हासिल किया है. राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू ने शनिवार को यहां एक कार्यक्रम में विजेताओं को पुरस्कार प्रदान किए. इस मौके पर केंद्रीय आवास एवं शहरी मामलों के मंत्री हरदीप सिंह पुरी और अन्य भी मौजूद थे. एक लाख से कम आबादी वाले शहरों की श्रेणी में महाराष्ट्र का पंचगनी पहले स्थान पर रहा. इसके बाद छत्तीसगढ़ का पाटन (एनपी) और महाराष्ट्र का करहड़ रहा.

CG इस मस्ती बार में सजती थी लड़कियां, 4 लोगों के मर्डर ने खोला राज

 गंगा के किनारे बसा सबसे स्वच्छ शहर हरिद्वार

 एक लाख से अधिक आबादी की श्रेणी में हरिद्वार गंगा के किनारे बसा सबसे स्वच्छ शहर रहा. इसके बाद वाराणसी और ऋषिकेश रहे. सर्वेक्षण के परिणामों के अनुसार, एक लाख से कम आबादी वाले गंगा के किनारे बसे शहरों में बिजनौर पहले स्थान पर रहा. इसके बाद क्रमशः कन्नौज और गढ़मुक्तेश्वर का स्थान रहा. सर्वेक्षण में, महाराष्ट्र के देवलाली को देश का सबसे स्वच्छ छावनी बोर्ड चुना गया.

 

Related Articles

Back to top button
बेहद ग्लैमरस हैं बालिका वधू की ‘गहना’, सिर्फ शर्ट पहनकर खिंचवा ली ऐसी तस्वीर ‘बिग बॉस’ की इस हसीना ने कैमरे के सामने खोले टॉप के बटन, फिर की ऐसी हरकत Ghum Hai Kisikey Pyaar Meiin: पूरे परिवार के सामने सई, विराट और पाखी की खोलेगी पोल, शो में मचेगा बवाल Alia Aamir समेत इन बॉलीवुड सितारों ने बीच में ही छोड़ी पढ़ाई, लिस्ट में शामिल हैं चौंकाने वाले नाम मलाइका अरोड़ा के नए क्लासिक अंदाज से इंटरनेट पर मची हलचल