घर तोड़ कर घुसा हाथी, दादी सहित नातिन को किया घायल

0
  • महासमुंद। सिरपुर क्षेत्र के जंगल में हाथियों का उत्पात थमने का नाम नहीं ले रहा है। बुधवार की रात एक दतैल हाथी लहंगर और पीढ़ी गांव के बीच स्थित कमार डेरा में घुस गया। रात में सो रहे परिवार के घर को तोड़कर अंदर घुस गया, हाथी के अचानक घर में घुस जाने से 4-5 लोग जान बचाकर वहां से भग निकले लेकिन बुजुर्ग दादी नीरा पति झग्गर (55) और उसकी 11 वर्षीय नातिन वहां से नहीं भाग पाए। हाथी ने सूंड में उठाकर दोनों को पटक दिया। अन्य सदस्यों ने बचाव-बचाव कहते हुए दूसरे लोगों को उठाया, इस तरह गांव के लोगों की भीड़ लग गई, हाथी बुजुर्ग महिला को छोड़कर जंगल की ओर भाग निकला। बुजुर्ग महिला और उसके नातिन को रात में अस्पताल तक पहुंचाया गया जहां दोनों को खतरे से बाहर बताया जा रहा है।
    ग्रामीणों में आक्रोश
    इस क्षेत्र में हाथियों को खदेड़ने के लिए कुनकी हाथी लाया गया है। लेकिन यह हाथी भी ग्रामीणों के खौप को नहीं रोक पा रहा है। बतादें कि तीन साल के भीतर 6 से भी अधिक लोगों की जान चली गई है। इसके अलावा इस क्षेत्र के लोग कृषि कार्य नहीं कर पा रहे हैं। लगातार घटना को लेकर चिंतित ग्रामीण पिथौरा ब्लाक के गांव खैरखुटा में मुख्यमंत्री डा. रमन सिंह के आने की सूचना के बाद एक बार फिर मिलने पहुंचे हैं।
    0 हाथी भगाओं सयोजक राधेलाल सिन्हा, गौतम ध्रुव, बृजलाल ध्रुव, मनराखन ठाकुर, रमाकांत ध्रुव ने बताया कि अब तक हाथियों के दल को यहां से खदेड़ने के लिए शासन-प्रशासन लाखों खर्च कर चुका है, लेकिन कोई काम का नहीं है।
    इसके पहले पत्नी के सामने पति पटक कर मार डाला था
    8 फरवरी की सुबह सिरपुर क्षेत्र कुकराडीह बंजर में 10 बजे जंगल में लकड़ी बीनने गए पति-पत्नी का मुकाबला हाथी से हो गया था। झाड़ी के बीच छूपे हाथी ने बुजुर्ग को पकड़ लिया। पत्नी जैसे-तैसे जान बचाती हुई एक किनारे में खड़ी हो गई। इस तरह पत्नी के सामने ही फुटबाल की तरह उसके पति पुरूषोत्तम दीवान को पटक-पटक कर मार डाला था।
loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here