लोकसुराज में सात जिलोंं के 7 गांव में अचानक पहुंचे सीएम, चौपाल लगाकर लोगों की समस्या सुनी

1

रायपुर। छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने लोक सुराज अभियान के तीसरे चरण में अब तक 23 जिलों का सघन दौरा कर लिया है। वे इनमें से सात जिलों के सात गांवों में अचानक पहुंचकर चौपालों में लोगों से मिले और 16 जिलों के 16 समाधान शिविरों में भी शामिल हुए। डॉ. सिंह इसके अलावा अब तक इन 23 जिलों में से आठ जिला मुख्यालयों में 17 जिलों की संयुक्त समीक्षा बैठक ले चुके हैं। उल्लेखनीय है कि मुख्यमंत्री के नेतृत्व में इस वर्ष के लोक सुराज का पहला चरण आवेदन संकलन के लिए 12 जनवरी से 14 जनवरी तक हुआ। दूसरे चरण में 15 जनवरी से 11 मार्च तक संबंधित विभागों द्वारा आवेदनों का निराकरण किया गया। तीसरा चरण 11 मार्च से शुरू होकर 31 मार्च तक चलेगा।
0 डॉ. रमन सिंह ने तीसरे चरण में आज चार जिलों का दौरा किया। इन्हें मिलाकर उन्होंने अब तक जिन 23 जिलों का दौरा कर लिया है। इनमें कांकेर, बीजापुर, सुकमा, दंतेवाड़ा, गरियाबंद, मुंगेली, बिलासपुर, जशपुर, बलरामपुर, सरगुजा, कोरबा, कोरिया, जांजगीर-चांपा, धमतरी, दुर्ग, राजनांदगांव, कोण्डागांव, नारायणपुर, महासमुंद, बलौदाबाजार, कबीरधाम, रायगढ़ और सूरजपुर शामिल हैं। मुख्यमंत्री ने अपने प्रवास के दौरान सात जिलों के सात गांवों में आकस्मिक चौपाल लगाकर लोगों से मुलाकात की। इनमें बंडाटोला (जिला कांकेर), सेमहरा (जिला गरियाबंद), मेरो (जिला कोरिया), डोंगरडुला (जिला धमतरी), पुसापाल (जिला कोण्डागांव), टुरीझर (महासमुंद) और सिंघारी (जिला-कबीरधाम) शामिल हैं।

0  उन्होंने अब तक 16 समाधान शिविरों में भी आकस्मिक रूप से पहुंचकर लोगों से मिले और योजनाओं के क्रियान्वयन का ब्यौरा लिया। इन समाधान शिविरों में मददेड़ (जिला बीजापुर), इंजरम (जिला सुकमा), भटगांव (जिला मुंगेली), खरकट्टा (जिला जशपुर), नगरा (जिला बलरामपुर), भैसामुड़ा (जिला कोरबा), लुतराशरीफ (जिला बिलासपुर), माड़ागांव (जिला गरियाबंद), थनौद (जिला दुर्ग), धौड़ाई (जिला-नारायणपुर) किरंदुल (जिला दंतेवाड़ा), कोसमकुंडा (बलौदाबाजार), ससौली (जिला-सरगुजा), अमोरा (जिला जांजगीर-चांपा) और आज पुसल्दा (जिला-रायगढ़) तथा बैजनाथपुर (जिला-सूरजपुर) के शिविर शामिल हैं।
0  डॉ. सिंह अब तक 08 जिला मुख्यालयों में 17 जिलों की संयुक्त समीक्षा बैठक ले चुके हैं। दंतेवाड़ा में उन्होंने बीजापुर, सुकमा और दंतेवाड़ा की समीक्षा की। डॉ. सिंह ने बिलासपुर में मुंगेली और बिलासपुर जिलों की, अम्बिकापुर में सरगुजा और बलरामपुर जिलों की, जांजगीर में कोरबा और जांजगीर जिलो की, राजनांदगांव में कबीरधाम और राजनांदगाव जिलों की, जगदलपुर में नारायणपुर और बस्तर जिलों की समीक्षा की। उन्होंने जिला मुख्यालय जशपुर में रायगढ़ और जशपुर जिलों की और शनिवार को कोरिया जिले के मुख्यालय बैकुण्ठपुर में सूरजपुर और कोरिया जिलों की संयुक्त समीक्षा बैठक ली।

 

loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here