हाथरस के निर्भया की पुलिस ने जबरन करवाया अंतिम संस्कार, देशभर में आक्रोश

0

नई दिल्ली।  यूपी के हाथरस (Hathras Gangrape Case) में एक युवती के साथ दरिंदगी की घटना सामने आई. दलित परिवार का आरोप है कि उनकी 19 साल की बेटी के साथ गांव के ही 4 लोगों ने गैंगरेप किया. उनका कहना है कि वारदात को अंजाम देने के बाद लड़की का जीभ काट दी गई, और रीढ़ की हड्डी तोड़ दी गई, ताकि वह मदद के लिए कहीं न जा पाए. 14 दिन की जंग के बाद मंगलवार सुबह पीड़िता ने दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल में दम तोड़ दिया. देशभर में इस घटना को लेकर काफी अधिक गुस्सा है. हर तरफ से एक ही मांग उठ रही है कि दोषियों को सख्त से सख्त सजा मिलनी चाहिए. साथ ही उत्तर प्रदेश की कानून व्यवस्था पर एक बार फिर सवालिया निशान खड़े हो रहे हैं.


हाथरस केस में यूपी पुलिस पर भी कई आरोप लगे हैं. देर रात लड़की का शव उसके गांव पहुंचा. परिवारवालों ने पुलिस पर जबरन अंतिम संस्कार कराने का आरोप लगाया है. परिवार का कहना है कि पुलिस ने शव को एक बार घर ले जाने की इजाजत तक नहीं दी. जल्दी-जल्दी में अंतिम संस्कार करा दिया गया. ट्विटर पर पीड़िता के अंतिम संस्कार के कई वीडियो शेयर किए गए हैं, जिसमें लोग पुलिस के इस रवैये पर सवाल खड़े कर रहे हैं..

पुलिस की नसीहत-लाश को ज्यादा देर नहीं रखना चाहिए

सोशल मीडिया पर शेयर किए गए इनमें से एक वीडियो में पुलिस अफसर पीड़ित परिवार को नसीहत भी दे रहा है कि लाश को इतनी देर तक रखना ठीक नहीं. सबकुछ रीति-रिवाज के मुताबिक हो जाना चाहिए. एक वीडियो में लड़की की मां पुलिस अफसर से गुहार लगाती है, ‘मेरी बच्ची को एक बार घर ले जाने दीजिए. सिर्फ एक बार. अंतिम संस्कार की इतनी जल्दी क्या है? इतनी रात गए… जल्दी जल्दी में क्यों करा रहे हैं?’ जबाव में पुलिस अफसर कहते हैं, ‘मैं राजस्थान से हूं. मेरे कल्चर में लाश को ज्यादा देर तक नहीं रखा जाता. बाकी सब आप
एक अन्य वीडियो में लड़की की मां दोबारा पुलिस से गुहार लगाती हैं. तब पुलिसवाला कहता है, ‘रीति-रिवाज समय के साथ बदलते हैं. आप लोग मानिए कि आप लोगों से भी गलती हुई है.’ एक और वीडियो फुटेज में लड़की की मां ने कहा, ‘हम अपनी बच्ची की विदाई करना चाहते हैं. हल्दी लगानी होती है. तभी आखिरी विदाई होती है. आप हमें बेटी को एक बार घर क्यों नहीं ले जाने दे रहे हैं? आप जबदस्ती क्यों कर रहे हैं?’

UP में हैवानियत: 4 लोगों ने गैंगरेप के बाद काट दी थी जीभ, दलित महिला की मौत

अंतिम संस्कार के दौरान परिवार को चिता से दूर रखा

करीब 200 की संख्या में पुलिसवाले घरवालों की मांग ठुकराते हुए लाश को रात 2 बजकर 20 मिनट पर अंतिम संस्कार के लिए ले गए. पुलिसवालों ने अंतिम संस्कार के वक्त घेरा बना लिया. किसी को चिता के पास जाने तक नहीं दिया.
हाथरस केस को लेकर दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने भी ट्वीट किया है. केजरीवाल ने लिखा- ‘हाथरस की पीडिता का पहले कुछ वहशियों ने बलात्कार किया और कल पूरे सिस्टम ने बलात्कार किया. पूरा प्रकरण बेहद पीड़ादायी है.’

loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here