Auto driver के हाथ लगा नोटों से भरा Bag, फिर उसने जो किया उससे सभी चौंक गए…

0
webmorcha.com

मंडी. आप जेब से गरीब हों और दिल से अमीर, तो भी तीन लाख की रकम बड़ी होती है, मगर वह आपके ईमान को डिगा नहीं सकती. यह बात साबित की मंडी शहर के Auto driver ने. इस ऑटोचालक का नाम है पितांबर सिंह.

थाने में जमा करा दिया रुपये से भरा Bag 

Mandi  शहर में Auto चलाया करते हैं पितांबर सिंह. दो दिन पहले यानी 15 अक्टूबर को भी वे रोज की तरह अपना ऑटो लेकर सड़क पर थे. तभी एक बुजर्ग सवारी पितांबर के Auto पर बैठी. उनके हाथ में एक बैग था. वह इस ऑटो से बाजार की तरफ गए. वहां पितांबर को उन्होंने Auto के किराए का पैसा दिया और बाजार की ओर चले गए. थोड़ी देर बाद पिताबंर की निगाह पिछली सीट पर गई,

webmorcha.com

जहां थोड़ी देर पहले एक बुजुर्ग सवारी बैठी थी. पितांबर ने देखा कि उस सीट पर एक बैग पड़ा है. पितांबर समझ गए कि यह बैग उन्हीं बुजुर्ग सवारी का है. पितांबर ने बैग खोलकर देखा तो उसमें नोट भरे पड़े थे. वह बड़ी उलझन में पड़ गए कि आखिर उन बुजुर्ग सवारी को भला वह कहां ढूंढ़े. कुछ देर विचार करने के बाद पितांबर सिटी Police चौकी मंडी पहुंच गए. वहां उन्होंने पूरी बात पुलिसवालों को बताई और रुपये से भरा बैग पुलिस के हवाले कर चलते बने.

 

परेशान बुजुर्ग FIR दर्ज कराने पहुंचे थाने

इस बीच, वह बुजुर्ग सवारी परेशान हुई कि उनका बैग ऑटो में छूट गया. उन्होंने तत्काल ऑटोचालक की तलाश की. जब वह नहीं मिला तो वह हताश हो, घर लौट गए. इधर पुलिस भी परेशान रही. वह भी उस बुजुर्ग सवारी को ढूंढ़ती रही. दो दिन तक बैग थाने में पड़ा रहा. दो दिन बाद इत्तफाकन एक शख्स अपने बेटे के साथ सिटी Police चौकी पहुंचा और अपने गुम हो चुके बैग की रिपोर्ट लिखवाई. इस शख्स ने अपना नाम योगराज बताया. बैग गुम होने की पूरी कहानी सुनाई.

इस सप्ताह कन्या, तुला और मीन को मिलेगा फायदा, मिथुन, वृच्चिक रहे अलर्ट

उन्होंने बताया कि वे बैंक से रुपये निकाल कर Auto में बैठे थे, फिर बाजार तक गए और अपनी चूक की वजह से बैग उन्होंने Auto में ही छोड़ दिया. उन्होंने बैग में रखी गई रकम भी सही बताई. पुलिसवालों ने पूरी तरह पूछताछ की और जब इत्मीनान हो गए कि ऑटोचालक द्वारा जमा कराया गया रुपयों से भरा बैग इन्हीं योगराज का है, तो उन्होंने योगराज को आश्वासन दिया कि उनका पैसा उन्हें मिल जाएगा.

Police ने बुजुर्ग को उसके पैसे लौटाए

loading...

आज एएसपी मंडी आशीष शर्मा की मौजूदगी में Auto चालक के हाथों यह राशि योगराज को लौटा दी गई. योगराज के बेटे दीपक शर्मा ने इसके लिए ऑटो चालक का आभार जताया. वहीं एएसपी मंडी ने भी ईमानदारी के लिए ऑटो चालक पितांबर सिंह की पीठ थपथपाई.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here