बिना परीक्षा दिए 20 हजार रुपये में मिल रही थी 10वीं से BA-MA तक की Degree , ऐसे हुआ खुलासा

0
webmorcha.com

जबलपुर. 10वीं और 12वीं में फेल हुए छात्रों के साथ यूजी व पीजी छात्रों को फर्जी मार्कशीट दिलाने वाले Gang का पर्दाफाश हुआ है. गिरोह के तीन सदस्य Crime Branch और पुलिस के हत्थे चढ़े हैं,

जिन्होंने इस गोरखधंधे की जानकारी दी है. पुलिस ने बताया कि पिछले कई सालों से 10वीं और 12वीं की परीक्षा में फेल हो रहे छात्रों को फर्जी मार्कशीट दिलाने का गोरखधंधा जमकर फल फूल रहा था, लेकिन इस गिरोह के सदस्य लगातार पुलिस को चकमा देने में सफल हो रहे थे.

हाल ही में क्राइम ब्रांच को मुखबिर द्वारा इस गिरोह के सदस्यों की जानकारी मिली जिसके बाद तीन लोगों को गिरफ्तार किया गया. इस गोरखधंधे से पर्दा तब उठा जब एक Student ने इस Marksheet के आधार पर नौकरी के लिए आवेदन किया. कागजात की पड़ताल में पता चला की Marksheet फर्जी है. इसके बाद Student की शिकायत पर Police फर्जी मार्कशीट बनाने वाले गिरोह तक पहुंची.

Website के जरिये बनातते थे शिकार

Police को इनके पास से फर्जी Marksheet बनाने के दस्तावेजे बरामद हुए हैं. पुलिस की गिरफ्त में आए आरोपियों में प्रेम कुमार संजय यादव और अजय विश्वकर्मा शामिल है. जिन्होंने Marksheet बनाने के लिए एक फर्जी वेबसाइट भी तैयार की थी जिसके माध्यम से वह दसवीं और बारहवीं में फेल हुए छात्रों से संपर्क किया करते थे.

20 से 30 हजार में होता था सौदा

फर्जी Marksheet गिरोह के सदस्य छात्रों को अपने झांसे में लेकर 20 से 30 हजार रुपए में फर्जी मार्कशीट तैयार करके देते थे. Police फिलहाल तीनों आरोपियों से सघन पूछताछ कर रही है और यह पता लगाने में जुटी है कि उन्होंने कितने छात्रों को फर्जी मार्कशीट मुहैया कराई है. फिलहाल Police आरोपियों से पूछताछ कर रही है. पुलिस पता लगा रही है कि अबतक इन्होंने कितनों लोगों को शिकार बनाया है

loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here