एक नवंबर से बदल जायेगा एलपीजी गैस सिलेंडर घर पहुंच सेवा का नियम, कालाबाजारी रोकने सरकार की बड़ी कदम

0
wbmorcha.com
एलपीजी गैस सिलेंडर

नई दिल्ली: रविवार 18 अक्टूबर 2020। गैस सिलेंडर (Cylinder) की डिलेवरी में बदलाव होने जा रहा है। सिलेंडर (Cylinder) कालाबाजारी रोकने सरकार 1 नवंबर से नए नियम लागू करने जा रही है। इस नियम के लागू होते ही आपके घर डिलेवर होने वाला गैस सिलेंडर का डिलेवरी सिस्टम नया हो जायेगा। दरअसल, अगर आप भी घर बैठे सिलेंडर (Cylinder) मंगवाते हैं तो यह खबर आपके लिए बेहद जरूरी है. सरकारी तेल कंपनियों के मुताबिक एक नवंबर से देश के 100 स्मार्ट सिटीज में गैस की डिलीवरी के लिए वन टाइम पासवर्ड (OTP) अनिवार्य हो जाएगा.

सरकार का लक्ष्य यह है कि गैस सिलेंडर (Cylinder) सही उपभोक्ता तक पहुंचे. इसे सुनिश्चित करने के लिए नई व्यवस्था लागू की जा रही है. यानी अब जब 1 नवंबर से सिलेंडर लेकर डिलीवरी ब्वॉय आपके घर आएंगे तो उन्हें OTP बताना होगा. यह कदम सिलेंडर (Cylinder) से चोरी होने वाली गैस, सिलेंडर चोरी रोकने और सही कस्टमर की पहचान के लिए लागू किया जा रहा है. इस नियम के तहत जैसे ही आप सिलेंडर बुक करेंगे, आपके मोबाइल पर एक ओटीपी प्राप्त होगा.

यहां पढ़ें: मनरेगा कार्ड पर Deepika Padukone की फोटो, जिसे चुकाई मजदूरी उसे पता नहीं

इसके बाद जब डिलीवरी ब्वॉय आपके घर पर गैस सिलेंडर (Cylinder) पहुंचाने आएंगे तो उन्हें ओटीपी बताना होगा. ओटीपी साझा किए बगैर एलपीजी सिलेंडर (Cylinder) डिलिवर नहीं हो पाएगा. फिलहाल जयपुर और तमिलनाडु के कोयंबटूर में इस व्यवस्था को पायलट प्रोजेक्ट के तौर पर लागू किया गया है. लेकिन अब नवंबर, 2020 से इस योजना का विस्तार देश के 100 स्मार्ट शहरों में किया जा रहा है.

इन शहरों से मिलने वाले फीडबैक के आधार पर व्यवस्था का विस्तार देशभर में किया जाएगा.अगर आपका घर 100 स्मार्ट सिटी में है और आपका मोबाइल नंबर गैस एजेंसी के पास रजिस्टर्ड नहीं है या फिर नंबर बदल गया है तो तुरंत नंबर अपडेट करवा लें. इसके अलावा डिलीवरी ब्वॉय को एक ऐप की सुविधा दी जाएगी. डिलिवरी के वक्त आप उस ऐप की मदद से अपना मोबाइल नंबर डिलिवरी ब्वॉय को अपडेट करा सकते हैं.

यहां पढ़ें: सराईपाली: दहेजलोभियों ने बहू को “तू काली है दुर्गा” बोल किया प्रताड़ित, सास, ससूर नदद सहित 8 लोगों के खिलाफ मामला दर्ज

loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here