नारायणपुर: 6 साल पहले जादू-टोने के शक पर 3 लोगों की हुई थी हत्या, न्यायालय ने 37 लोगों को सुनाया आजीवन कारावास की सजा

0
webmorcha.com
फाइल फोटो

नारायणपुर. जिले के माहका गांव में छह साल पूर्व जादू-टोने के शक में 3 लोगों की हत्या हुई थी. इसके आरोप में 37 लोगों को अपर सत्र न्यायालय ने आजीवन कारावास और जुर्माने की सजा सुनाई है. सभी 37 आरोपियों को जेल भेज दिया गया है. अभियोजन के अनुसार, 20 दिसंबर 2014 को नारायणपुर थाना क्षेत्र के ग्राम माहका के घोटुल में ग्रामीणों की बैठक हुई थी. बैठक में गांव के घड़वाराम के परिवार को भी बुलाया गया.

यहां पढ़ें: पुत्र और पत्नी को मौत का घाट उतारने वाले हत्यारे को कोर्ट ने सुनाई आजीवान कारावास

इसमें घड़वाराम उसकी पत्नी दसरी बाई, बेटी रामवती व उसका पति मानकू उर्फ मानू उईके, पुत्र रानू करंगा, बजारो, जुगरी पत्नी रानू करंगा शामिल हुए। लोगों ने घड़वा के परिवार से कहा कि तुम लोग गांव में जादू-टोना करते हो, जिसके कारण ग्रामीणों को परेशानी हो रही है। इसके बाद ग्रामीणों ने बांस, डंडों, हाथ, मुक्का से घड़वाराम, उसकी पत्नी दसरीबई और पुत्री रामवती की पिटाई की। घड़वाराम को अधमरा छोड़कर आरोपियों ने पत्नी दसरीबाई, बेटी रामवती बाई की हत्या कर दोनों शव को जला दिया। 3 दिन बाद घायल घड़वाराम की भी मौत हो गई थी। सूचना पर नारायणपुर थाने में आरोपियों के विरुद्ध विभिन्न धाराओं के तहत FIR दर्ज की गई थी.

नारायणपुर थाना क्षेत्र के ग्राम माहका के वे आरोपी जिन्हें सजा हुई: गाण्डोराम (27), दामू कचलाम(28), भदरू करंगा (50),सन्केर उईके (45), मंगडू करंगा (50), सिंगलुराम कुमेटी (29), घसियाराम सलाम (40), घासीराम (45), रैजूराम(23), बुलकी करंगा (25), बासू कचलाम (38), दुलार सिंह (20), गंगाराम (35), कावे कुमेटी (20), सन्तेर करंगा (21), सुकमन (20), रैनु कौडे (22), कोलू कौडो (21),

पीलू (19), घस्सूराम बुई (20), प्रदीप (21), ढेलू करंगा(22), असाडू करंगा (35), सोनवा करंगा (25), सनउराम कौडो (20), रस्सू सलाम (27), पितराम बुई (20), दुकलू कुमेटी (35), रैयसिंह बुई(30), रतन सिंह (28), सुदरन (19), चैतराम कचलाम (35), फागूराम(35), घस्सू (20), सन्तु करंगा (27), सोनू करंगा (20) और दलु करंगा (30)

यहां पढ़ें: IPL इतिहास में अब तक की सबसे तेज गेंद डाली एनरिच नोर्जे, 156.22 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से डाली

दो लोगों की हो चुकी है मौत

इस मामले में कुल 39 आरोपी थे जिनमें से 2 आरोपी पुनउ कचलाम और मंगेल करंगा की मौत हो जाने से 37 आरोपियों को सजा सुनाकर जेल भेज दिया गया है।

loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here