चाणक्य कहते हैं जो व्यक्ति दूसरों को नीचा दिखाता है, ऐसे व्यक्ति समाज में कभी मान-सम्मान नहीं पाता

आचार्य चाणक्य Chanakya ने नीति शास्त्र में जीवन के कई पहलुओं का वर्णन किया है। चाणक्य Chanakya की इन नीतियों को अपनाकर जीवन को सरल बनाया जा सकता है। महान राजनीतिज्ञ, अर्थशास्त्री व शिक्षाविद चाणक्य ने अपनी नीतियों के बल पर ही चंद्रगुप्त मौर्य को मौर्य वंश का राजा बनाया था। चाणक्य की नीतियों को अपनाना भले ही मुश्किल माना जाता है। लेकिन कहते हैं कि जिसने भी अपना लिया उसे चंद्रगु्प्त की तरह सफल होने से कोई नहीं रोक सका।

जीवन की सच्चाई से रूबरू कराने वाली नीतियों में से एक नीति में चाणक्य ने बताया है कि आखिर कौन-सी बातें मां के गर्भ में ही तय हो जाती हैं। चाणक्य Chanakya कहते हैं कि इन बातों पर ही इंसान का भविष्य निर्भर करता है। चाणक्य के अनुसार, आयु कितनी लंबी होगी, क्या काम करेगा, कितना धन व ज्ञान प्राप्त करेगा और उसकी मृत्यु कब शामिल है। चाणक्य कहते हैं कि ये कुछ बातें ऐसी हैं जब शिशु गर्भ में होता है, तभी तय हो जाती हैं।

Chaanaky neeti: आचार्य चाणक्य: इन पांच लोगों का भूलकर भी ना करें भरोसा, हो सकता है मुश्किल

भविष्य के लिए व्यक्ति को रहना चाहिए तैयार-

चाणक्य Chanakya कहते हैं कि जो व्यक्ति नसीब के सहारे चलते हैं वह अक्सर बर्बाद हो जाते हैं। इसलिए व्यक्ति को भविष्य के लिए तैयार रहना चाहिए। नीति शास्त्र के अनुसार, जो व्यक्ति भविष्य के लिए तैयार रहते हैं, वह किसी भी परिस्थिति का सामना करने के लिए तैयार रहते हैं।

न करें दूसरों को नीचा दिखाने की कोशिश-

चाणक्य Chanakya कहते हैं कि जो व्यक्ति दूसरों से जलते हैं और उन्हें नीचा दिखाने की कोशिश करते हैं। ऐसे व्यक्ति समाज में कभी मान-सम्मान नहीं पाते हैं। इसलिए व्यक्ति को कभी किसी को नीचा नहीं दिखाना चाहिए।

आसक्ति रखने वाला इंसान-

चाणक्य Chanakya कहते हैं कि जो लोग अपने परिवार के लिए आसक्ति रखते हैं। वह दुख और कष्टों से घिरे रहते हैं। ऐसे में सुखी और खुशहाल जीवन के लिए व्यक्ति को आसक्ति छोड़ना होगा।