हमले के बाद ईरान की धमकी से वर्ल्ड में हड़कंप, इराक छोड़ रहे अमेरिकी

अमेरिकी (American) द्वारा किए गए हमले के बाद ईरान द्वारा बदला लेने की धमकी से पूरे विश्व में कोहराम है। बगदाद में अमेरिकी दूतावास ने अपने नागरिकों से तत्काल इराक छोड़ने को कहा है। ब्रिटिश विदेश मंत्री डोमिनिक राब (British Foreign Minister Dominic Raab) ने भी अपने देश के नागरिकों को इराक से लौटने का आग्रह किया है। राब के अनुसार, मैं सभी पक्षों से संघर्ष कम करने का अनुरोध किया है। उन्होंने कहा कि आगे का संघर्ष हमारे लिए ठीक नहीं है। ब्रिटेन ने मध्यपूर्व में अपने सैन्य अड्डों की सुरक्षा भी बढ़ा दी है। इराक में ही ब्रिटेन के करीब 400 सैन्य अधिकारी मौजूद हैं।

इधर, इस्राइल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू ग्रीस (Israel’s Prime Minister Benjamin Netanyahu Greece) का दौरा बीच में ही रद्द कर अपना देश लौट चुके हैं। इस्राइल सेना के अनुसार देश की सेना को हाई अलर्ट पर रखा गया है। जानकारों का कहना है कि इन बड़े सैन्य अधिकारियों की मौत इस क्षेत्र के लिए एक बड़ा टर्निंग प्वाइंट है। माना जा रहा है कि ईरान इस हमले का करारा जवाब जरूर देगा, जिससे हालात बिगड़ सकते हैं। जवाबी हमलों से अमेरिकी और इस्राइली के लिए नुकसान भी सकता है।

वहीं इस्राइली प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू (Israeli Prime Minister Benjamin Netanyahu) ने कहा, ईरानी कमांडर को मारकर अमेरिका को अपनी सुरक्षा  और रक्षा करने  का अधिकार था। जिस तरह इस्राइल के पास आत्मरक्षा का अधिकार है, ठीक उसी तरह अमेरिका का भी अधिकार है। सुलेमानी अमेरिकी नागरिकों और कई बेगुनाह लोगों की हत्या का उत्तरदायी था। वह और हमले करने की योजना बना रहा था। राष्ट्रपति ट्रंप बलपूर्वक और निर्णायक रूप से इसके हकदार हैं। इस्राइल शांति, सुरक्षा और आत्मरक्षा के संघर्ष में अमेरिका के साथ खड़ें हैं।

मध्यपूर्व में स्थिति बिगड़ने का खतरा : पुतिन

रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन (Russian President Vladimir Putin) ने कहा कि सुलेमानी की हत्या से मध्यपूर्व में स्थिति बिगड़ने का खतरा बढ़ गया है। पुतिन ने फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों के साथ टेलीफोन पर बातचीत के दौरान कहा, अमेरिका की यह कार्रवाई इस क्षेत्र की स्थिति को गंभीरता से बढ़ा सकती है।

एक और खाड़ी युद्ध बर्दाश्त नहीं कर सकती : गुटेरस

संयुक्त राष्ट्र के महासचिव एंटोनियो गुटेरस (UN Secretary-General Antonio Guterres) ने खाड़ी में तत्काल युद्ध विराम की अपील करते हुए कहा कि दुनिया एक और खाड़ी युद्ध बर्दाश्त नहीं कर सकती। दुनिया को ज्यादा संयम बरतनी होगी।  पाकिस्तान ने सभी पक्षों से संयम बरतने की अपील की। कहा, इस घटनाक्रम से क्षेत्र में शांति और स्थिरता को गंभीर खतरा है। वहीं चीन ने कहा, हम सभी पक्षों और खासतौर पर अमेरिका से संयम बरतने की अपील करते हैं। इराक की संप्रभुता और स्वतंत्रता का सम्मान किया जाना चाहिए।

फ्रांस ने कहा दुनिया अब ज्यादा खतरनाक

फ्रांस के यूरोप मंत्री अमीली डे मॉन्टचेलिन (French Minister of Europe Amili de Montchellin) ने कहा, हम अब ज्यादा खतरनाक दुनिया में जी रहे हैं। फ्रांस के सभी प्रयास, दुनिया के सभी हिस्सों में यह सुनिश्चित करना है कि शांति या कम से कम स्थिरता पैदा करने वाली परिस्थितियां बना रहें।

जर्मनी  ने कहा तनाव का खतरनाक स्तर

जर्मन चांसलर एंगेला मर्केल के प्रवक्ता अलराइक डेमर (German Chancellor Angela Merkel spokesman Alraik Demar) ने कहा, हम तनाव के खतरनाक स्तर पर हैं। युद्ध की तीव्रता कम करने के लिए विवेक और संयम जरूरी हो गया है।

सीरिया के अनुसार हिंसा भड़काने की कोशिश सीरिया ने कहा, अमेरिका का कायरतापूर्ण हमला। अमेरिकी कार्रवाई से शहीद नेताओं के रास्ते को अपनाने की प्रतिबद्धता बढ़ेगी। अमेरिका मध्य पूर्व में हिंसा भड़काने की कर रहा कोशिश।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button