कोमाखानमहासमुन्द

मोदी के ऐतिहासिक फैसला आने के बाद किसानों और कार्यकर्ताओं में खुशी का माहौल

महासमुंद। पहली बार किसी सरकार द्वारा धान के समर्थन मूल्य में ऐतिहासिक वृद्धि करते हुए 200 रुपए की है। इसे लेकर जिले के किसानों और भाजपा कार्यकर्ताओं में खुशी का माहौल है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी केऐतिहासिक फैसला आने के बाद जिला किसान मोर्चा के उपाध्यक्ष एवं जनपद सदस्य योगेश्वर चन्द्राकर के नेतृत्व में जनपद पंचायत के सामने महामंत्री पवन सिन्हा सांसद प्रतिनिधि मोहन मदनकार किसान मोर्चा शहर मंडल अध्यक्ष मनीष चन्द्राकर बिरकोनी सरपंच टुपसिंग निषाद खट्टी सरपंच दुजराम राम साहू खरोरा सरपंच गब्बर चन्द्राकर

http://प्रधानमंत्री ने देश के किसानों को ट्वीट कर दी बधाई

मुख्यमंत्री डा. रमन सिंह ने बताया सकारात्मक कदम

मोरधा सरपंच प्रतिनिधि उदयराम साहू मोगरा सरपंच प्रतिनिधि लखन साहू चोवराम कमलेश चन्द्राकर नांदगांव सरपंच लोचन चन्द्राकर गिरधर यादव अरविंद सुकुलबाय सरपंच चोवा साहू सुरेन्द श्याम सुंदर हेमंत एवं ग्रामीण जनों ने फटाखा फोडकर

यहां पढ़े: भारतीय वन सर्वेक्षण की ताजा रिपोर्ट: छत्तीसगढ़ में दो साल के भीतर 165 किमी जंगल में बढ़ोत्तरी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंग, कृषि मंत्री बृजमोहन अग्रवाल एवं प्रदेश अध्यक्ष किसान मोर्चा पूनम चन्द्राकर  को धन्यवाद ज्ञापित किया। सभी किसानों को बधाई दिया न्यूनतम समर्थन मूल्य की घोषणा के बाद सरकार द्वारा घोषित बोनस 300 रुपए को मिलाकर छत्तीसगढ़ में धान की कुल कीमत 2090 रुपए हो जाएगी!

यहां पढ़े: http://योगेश्वर ने कहा महीने में सिर्फ 1 रुपए देकर उठाए बीमा का लाभ

जानिए सरकार ने ऐसे लिया फैसला देश के किसानों को सरकार ने बड़ी राहत देते हुए लागत मूल्य बढ़ा दी है। प्रधानमंत्री ने ट्वीट किसानों को बधाई देते हुए कहा कि मुझे अत्यंत खुशी हो रही है कि किसान भाइयों-बहनों को सरकार ने लागत के 1.5 गुना MSP देने का जो वादा किया था, आज उसे पूरा किया गया है। फसलों के न्यूनतम समर्थन मूल्य में इस बार ऐतिहासिक वृद्धि की गई है। सभी किसान भाइयों-बहनों को बधाई।

कैबिनेट ने खरीफ फसल के लिए समर्थन मूल्य को बढ़ा दिया है। धान के समर्थन मूल्य में 200 रुपए प्रति क्विंटल का इजाफा किया गया है।

गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि पीएम मोदी ने किसानों के हित को समझा।

देश का सबसे बड़ा कंज्यूमर, कस्टमर, प्रोड्यूसर किसान है, लेकिन किसानों को कभी उसकी कीमत नहीं मिलती।

राजनाथ ने कहा, ‘ये ऐतिहासिक फैसला हुआ है। इस देश का सबसे बड़ा प्रोड्यूसर, कंज्‍यूमर, कस्‍टमर किसान है। लेकिन किसानों को कभी उसकी नहीं मिलती है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने किसानों के इस दर्द को समझा है, इसलिए किसानों को उनकी लागत का डेढ़ गुना जाएगा।’ उन्‍होंने बताया कि कैबिनेट में यह फैसला लिया गया है कि किसानों को उनका हक मिले।

गृह मंत्री ने बताया कि पीएम मोदी ने 2022 तक देश के किसानों की आमदनी दुगुनी करने का लक्ष्य रहा है।

सरकार ने आम बजट में ही फसलों के एमएसपी में डेढ़ गुना की वृद्धि का ऐलान कर दिया था। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पिछले सप्ताह ही गन्ना किसानों से मुलाकात में इस हफ्ते की कैबिनेट में एमएसपी की घोषणा कर देने की बात कही थी। 2019 आम चुनाव के मद्देनजर मोदी सरकार का ये बड़ा कदम माना जा रहा है। लागत मूल्य से 50 फीसदी अधिक दाम देने के वादे के तहत केंद्रीय कैबिनेट ने खरीफ फसलों के नए समर्थन मूल्य को मंजूरी दी है। जानकारी मुताबिक धान का न्यूनतम समर्थन मूल्य 200 रुपए बढ़ाकर 1,750 रुपए क्विंटल कर दिया गया है, जबकि ए ग्रेड धान पर 160 रुपए का इजाफा किया गया है। हालांकि, सरकार की ओर से अभी आधिकारिक घोषणा नहीं की गई है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button
IND vs BAN: रोहित शर्मा ने पहला वनडे हारने के बाद सुधारी गलती आईपीएल के अगले सीजन में लागू होगा ये अनोखा नियम, अब 11 नहीं इतने खिलाड़ी एक ही मैच में लेंगे हिस्सा ढाका में भारत और बांग्लादेश की टक्कर, ‘करो या मरो’ मैच में उतरेगी टीम इंडिया IND vs BAN: रद्द होगा भारत-बांग्लादेश के बीच दूसरा वनडे Anupamaa Spoiler: कहानी ने मारी पलटी! अनुपमा का होगा किडनैप, डिंपल का ये एक्शन बजाएगा विलेन की बैंड