देश/विदेशमेरा गांव मेरा शहरलेख-आलेख

flight के भीतर एयरहोस्टेस कभी नहीं पीतीं चाय और कॉफी, कारण जान चौक जाएंगे, देखें वीडियो

वायरल वीडियो: कभी या अक्सर हवाई जहाज में सफर किया है तो वहां चाय और कॉफी तो अवश्य पी होगी. लेकिन क्या आपको पता है कि हवाई जहाज में मौजूद क्रू मेंबर्स कभी भी सफर के दौरान चाय-कॉफी नहीं पीते. इसके पीछे का कारण जानकर आप भी फ्लाइट में चाय और कॉफी पीना बंद कर देंगे।

वायरल वीडियो: कभी या अक्सर flight में सफर किया है तो वहां चाय और कॉफी तो अवश्य पी होगी. लेकिन क्या आपने कभी फ्लाइट में केबिन क्रू और एयर होस्टेज को उड़ान के दौरान चाय या कॉफी पीते देखा है? शायद नहीं. आपको जानकर चौक जाएंगे इसलिए कि क्रू मेंबर्स कभी भी flight के अंदर चाय और कॉफी नहीं पीते हैं. इसके पीछे का कारण जानकर आप आगे से फ्लाइट में चाय और कॉफी मंगाने से पहले कई बार सोचेंगे.

वायरल हो रहा वीडियो

बतादें कि हवाई जहाज का ये सीक्रेट एयर होस्टेस सिएरा मिस्ट ने बताया है, सिएरा social media पर काफी एक्टिव रहती हैं. उनके टिकटॉक अकाउंट पर 31 लाख फॉलोवर हैं. वो अक्सर फ्लाइट और अपने काम से जुड़ी जानकारियां शेयर करती रहती हैं. इन दिनों उनका एक वीडियो तेजी से वायरल हो रहा है, जिसमें उन्होंने फ्लाइट अटेंडेंट और पायलट के सीक्रेट्स बताए हैं.

फ्लाइट में चाय-कॉफी नहीं पीते क्रू मेंबर्स

सिएरा मिस्ट ने Video में बताया है कि क्रू मेंबर्स फ्लाइट में लगी पानी की टंकी का इस्तेमाल करने से बचते हैं. उन्होंने लिखा, ‘मैं आपको फ्लाइट (airplane) अटेंडेंट से जुड़े कुछ सीक्रेट बताऊंगी. मैं शर्त लगा सकती हूं कि इनके बारे में आपको पता नहीं होगा.’ उन्होंने बताया कि जब तक बहुत जरूरी न हो हम लोग फ्लाइट की चाय कॉफी नहीं पीते, क्योंकि जो पानी हम चाय और कॉपी बनाने के लिए इस्तेमाल करते हैं वो प्लेन के उस टैंक से आता है जो कभी साफ नहीं किया जाता. सिएरा ने आगे बताया कि एयरलाइन कंपनियां समय-समय पर पानी की जांच जरूर करती हैं. लेकिन अगर पानी में कुछ नहीं मिलता तो टैंक की सफाई नहीं की जाती.

CG बंदर के नखरे तो बहुत देखे लेकिन, इसे देख यकीन हो जाएगा कितना चालाक है मंकी

सफर के दौरान सनस्क्रीन लगाती हैं एयर होस्टेज

एयर होस्टेज ने फ्लाइट (airplane) का एक और सीक्रेट बताया. उन्होंने कहा कि एयर होस्टेस हमेशा उड़ान के दौरान सनस्क्रीन लगाती हैं. इसके पीछे की वजह भी सिएरा ने बताई. उन्होंने बताया, ‘हम ऐसा इसलिए करते हैं, क्यों हमें रोजाना जमीन से 35 हजार फीट ऊंचाई पर फ्लाइट में सफर करना पड़ता है. फ्लाइट (airplane) ओजोन लेयर के काफी करीब तक उड़ती हैं. ऐसे में ओजोन रेडिएशन का खतरा काफी ज्यादा बढ़ जाता है.  हेल्थ इंश्योरेंस कंपनियां क्रू मेंबर्स को एस्ट्रोनॉट और रेडियोलॉजिस्ट की श्रेणी में रखती हैं.

देखें वायरल वीडियों

Related Articles

Back to top button