कोमाखानकोरबा

मैनपाट में हाथियों ने मचाया आतंक यहां के 15 घरों को तोड़कर पहुंचाया नुकसान

अंबिकापुर। मैनपाट स्थित बरिमा में शनिवार की देर रात हाथियों उत्पात मचाया है। यहां के 15 घरों को तोड़ दिया। इसके साथ ही फसलों को भी नुकसान पहुंचाने की खबर है। वन विभाग और प्रशासन की टीम मौके पर पहुंचकर हाथियों के दल को इलाकों से खदेड़ने का प्रयास कर रहे हैं।

कोरबा के स्वास्थ्य केंद्र में घुसा हाथी

शनिवार की रात हाथी कोरबा के स्वास्थ्य केंद्र में हाथी में घुस गया। हालांकि यहां पर किसी को हमला नहीं किया। यहां लगे केले को खाकर वापस जंगल की ओर चला गया। स्वास्थ्य केंद्र की दीवार तोड़कर अस्पताल परिसर में दाखिल हुआ था।

http://पांच महीने बाद कुमकी हाथी को जंगल की ओर किया रवाना

बताया जा रहा है कि कोरबा में करीब 41 हाथियों ने पखवाड़ेभर से डेरा जमा रखा है, हाथियों के हमले से चार लोगों की मौत हो चुकी है।

http://कुमकी हाथी के पीछे अफसर भर रहे जेब

बताया जा रहा है कि कटघोरा वनमंडल क्षेत्र में हाथियों की आमद काफी लंबे समय से है और इसे लेकर वन विभाग लोगों को सचेत करने के साथ ही हाथी सुरक्षा दल के जरिए मुनादी भी करा रहा है।

यहां यह भी पढ़िए http://सिरपुर जंगल में 20 हाथियों का झुंड दिखा

इसके बावजूद जिस तरह से घटनाएं सामने आई हैं उसे देखकर यह समझा जा सकता है कि कहीं ना कहीं वन विभाग का अमला हाथियों के उत्पात को रोकने में नाकाम साबित हो रहा है।

http://हाथी भगाने पहुंचे लोगों को लगा करंट

– इसी के साथ यह भी खबर मिली है कि कटघोरा वनमंडल क्षेत्र में करीब 43 हाथियों ने डेरा जमाया हुआ है जिससे इलाके में दहशत का माहौल है। बताया जा रहा है कि अलग-अलग दलों में बट 43 हाथी क्षेत्र में घूम रहे हैं। जिससे ग्रामीण काफी दहशत में हैं। हालांकि वन विभाग का अमला हाथियों को खदेड़ने की बात कह रहा है।

यहां यह भी पढ़िए http://पत्नी के सामने पति को मार डाला

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button