अफसरशाही के आगे सीएम भी नतमस्तक, तहसीलदार से कहना पड़ा मानवता के नाते तो कर दो काम

1

महासमुंद। गुरुवार को पिथौरा ब्लॉक के खैरखुटा गांव पहुंचे सीएम डा. रमन सिंह ने चौपाल लगाई थी। इस दौरान लोगों ने अपनी समस्याएं बताई तो उन्हें तहसीलदार से यह तक कहना पड़ा कि कभी मानवता के नाते भी काम कर दिया करो। मुख्यमंत्री की इस बात से अब नईं बहस छिड़ गई है कि अफसरशाही के आगे कही सीएम भी तो नतमस्तक नहीं है?

0 मुख्यमंत्री के इस बात से कांग्रेसियों सहित दूसरे विपक्षी दलों को नया मुद्दा मिल गया है। वे कह रहे कि लोकसुराज शिविर जैसे कार्यक्रमों में समय बर्बाद करने के बजाए व्यवस्था को दुरुस्त किया जाना जरूरी है।
0 कांग्रेसी कह रहे कि विभागों में भ्रष्टाचार इतना हावी है कि छोटे-छोटे काम कराने के लिए लोगों को काफी दिनों तक भटकना पड़ता है। अनावश्यक कारण बताकर महीनों तक लोगों को विभाग का चक्कर लगवाया जाता है।
सीएम की बात पर यह कह रहे विपक्षी दलों के नेता

– बेबस लाचार हो गए है मुख्यमंत्री :- आलोक चन्द्राकर

मुख्यमंत्री को आदेश /निर्देश देना चाहिए था। लेकिन प्रशासन पर पकड़ नही होने के कारण ही निवेदन करते दिखे। चंद्राकर ने कहा प्रशासनिक आतंकवाद हावी है, अधिकारियों पर किसी का लगाम नही है। अधिकारी अपने मन माफिक काम कर रहे हैं।

मानवता का वास्ता देना शर्मनाक अध्यक्ष प्रदेश युवा जनता कांग्रेस छग जे के विनोद तिवारी ने कहा मुख्यमंत्री जैसे पद में रहकर मानवता के वास्ता देकर अफसरों से काम करने को कहना शर्मनाक है। पूरे प्रदेश में अफसरशाही बेलगाम हो चुके हैं। सरकार की कमान ढीली पड़ गई है।

सीएम को करना पड़ रहा मिन्नतें- आम आदमी पार्टी के मीडिया प्रभारी भुपेन्द्र चंद्राकर ने कहा मुख्यमंत्री के पद परबैठकर अधिकारियों और कर्मचारियों से मिन्नतें करना करना पड़ रहा है। लोकसुराज की जरूरत ही क्या है, सिस्टम में ही सुधार हो तो सब अच्छा हो जाएगा।

विनोद तिवारी प्रदेश अध्यक्ष छग युवा जनता कांग्रेस जे
आलोक चंद्राकर जिला अध्यक्ष कांग्रेस
भुपेन्द्र चंद्राकर आम आदमी

 

loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here