कलाकारों और साहित्यकारों ने संस्कृति मंत्री अमरजीत भगत से की मुलाकात

0
30

रायपुर। संस्कृति मंत्री अमरजीत भगत से रविवार को छत्तीसगढ़ फिल्म उद्योग से जुड़े कलाकारांे और साहित्यकारों ने सौजन्य मुलकात की। कलाकारों और साहित्यकारों ने संस्कृति विभाग द्वारा कलाकारों और साहित्यकारों को दिए जाने वाले पेंशन योजना के लिए आय-सीमा में बढ़ोत्तरी किए जाने पर संस्कृति मंत्री अमरजीत भगत और राज्य सरकार के प्रति आभार जताया। साथ ही राज्य के कलाकारों, निर्माता-निर्देशकों, टेक्नीशियनों व छत्तीसगढ़ी फिल्म उद्योग से जुड़े लोगों के लिए अवसर उपलब्ध कराने के लिए तैयार किए गए छत्तीसगढ़ फिल्म नीति 2021 के लिये भी कलाकारों ने मंत्री भगत को धन्यवाद ज्ञापित किया।

http://CG: Cyclone Gulab: का असर: बस्तर में आज और कल भारी बारिश की चेतावनी, रायपुर और दुर्ग संभाग भी होंगे प्रभावित

गौरतलब है कि संस्कृति विभाग द्वारा आर्थिक सहायता (पेंशन) योजना के तहत वर्ष 2007 से 60 वर्ष से अधिक एवं ख्यातिप्राप्त तथा आर्थिक रूप से कमजोर कलाकारों व साहित्यकारों को मासिक आर्थिक सहायता प्रदान किया जा रहा है। इसके लिए पहले आय-सीमा परिवार के अकेले सदस्य के लिए 14 हजार 400 रूपए, दो सदस्यों के लिए 18 हजार रूपए तथा तीन या तीन से अधिक सदस्यों के लिए 24 हजार रूपए निर्धारित था, जिसे राज्य सरकार ने मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की पहल और संस्कृति मंत्री के मार्गदर्शन में आय-सीमा में पांच गुणा बढ़ोत्तरी करते हुए परिवार के एकल सदस्य के लिए 72 हजार रूपए,

दो सदस्यों के लिए एक लाख 44 हजार रूपए और तीन या तीन से अधिक सदस्यों के लिए दो लाख 16 हजार रूपए कर दिया है। इससे प्रदेश के ज्यादा से ज्यादा कलाकारों और साहित्यकारों को इसका लाभ मिल सकेगा। कलाकार और साहित्यकारों में सर्वश्री अजय अग्रवाल, दिलीप षडंगी, प्रशांत ठाकर, तारिक़ खान, रियाज़ भाई और कुमार पंडित सहित अनेक साहित्यकार एवं कलाकार शामिल थे।