Saturday, January 23, 2021
Home देश/विदेश B'day Spl: जिम में 8 घंटे पसीना बहाकर 'बाहुबली' के भल्लालदेव बने...

B'day Spl: जिम में 8 घंटे पसीना बहाकर 'बाहुबली' के भल्लालदेव बने थे राणा दग्गुबाती, इस वजह से खतरे में थी लाइफ

मुंबईः ब्लॉकबस्टर हिट फिल्म ‘बाहुबली (Bahubali)’ में भल्लालदेव का किरदार निभाने वाले साउथ सुपरस्टार राणा दग्गुबाती (Rana Daggubati) आज यानी 14 दिसंबर को अपना जन्मदिन मना रहे हैं. राणा दग्गुबाती (Rana Daggubati Birthday) ने अपने लंबे फिल्मी सफर में कई फिल्में दी हैं और अपनी शानदार एक्टिंग के लिए कई अवॉर्ड्स से भी सम्मानित किए जा चुके हैं. लेकिन, बाहुबली में अपनी ना सिर्फ एक्टिंग से ही, बल्कि अपने लुक से भी हर किसी को हैरान कर दिया था. फिल्म में भल्लालदेव के किरदार के लिए राणा दग्गुबाती ने कितनी मेहनत की इसके बारे में कोई सोच भी नहीं सकता है.

जन्मतिथि के अनुसार से जानिए किनके लिए सफलता देने वाला रहेगा यह सप्ताह

राणा दग्गुबाती  ने बाहुबली में अपनी ना सिर्फ एक्टिंग से ही, बल्कि अपने लुक से भी हर किसी को हैरान कर दिया था. फिल्म में भल्लालदेव के किरदार के लिए राणा दग्गुबाती ने कितनी मेहनत की इसके बारे में कोई सोच भी नहीं सकता है.

 
फिल्म में भल्लालदेव के किरदार को जीवंत करने के लिए राणा दग्गुबाती को खुद को शारीरिक तौर पर चैलेंज करना पड़ा था. एक्टर को भल्लालदेव का शरीर बनाने के लिए हर दिन 4 हजार कैलोलरीज लेनी पड़ती थी. जिसके लिए वह हर दिन 8 घंटे जिम में बिताते थे और 40 अंडे खाते थे. राणा, भल्लादेव बनने के लिए दिन में 8 बार खाना खाते थे. फिल्म के लिए उन्होंने अपना वजन 100 किलो तक कर लिया था.

तभी तो फिल्म में दर्शकों को उनकी शानदार बॉडी देखने को मिली थी.
वहीं, एक चैट शो में राणा दग्गुबाती ने अपने स्वास्थ्य के बारे में खुलासा करते हुए बताया था कि वह अपनी जिंदगी में बड़ी स्वास्थ्य समस्या का सामना कर चुके हैं. उनकी तबीयत इतनी खराब हो गई थी कि उनकी जान जाते-जाते बची थी. राणा दग्गुबाती ने सामंथा अक्कीनेनी के चैट शो पर इस बात का खुलासा किया था. उन्होंने शो में खुद को लेकर कई चौंकाने वाले खुलासे किए थे. जिसे सुनकर ना सिर्फ दर्शक बल्कि खुद सामंथा बी काफी इमोशनल हो गई थीं.
चैट शो में राणा ने कहा था कि, ‘जब आपकी लाइफ फास्ट फॉरवर्ड में चल रही हो तभी अचानक एक पॉज बटन आ जाता है. मुझे बीपी की प्रॉब्लम थी, मेरे हार्ट के चारों ओर कैल्सिफिकेशन था और किडनी भी फेल होने को थीं. इस कंडीशन में 70 पर्सेंट चांस स्ट्रोक और हेमरेज के थे और 30 पर्सेंट तो जान जाने का खतरा था.’

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -webmorcha.com webmorcha.com

Most Popular

Recent Comments