कोमाखानक्राइममहासमुन्द

सोना-चांदी चमकाने के बहाने ठगी करने वाले बिहार के 6 आरोपी गिरफ्तार

महासमुंद. सोना-चॉदी सफाई करने के बहाने ठगी करने वाले गिरोह को महासमुंद क्राइम ने पकड़ा है। सभी 6 आरोपी बिहार के बताए जा रहे हैं। इन आरोपी के पास से  क्राइम ब्रांच ने सोना व चादी के जेवरात एवं मोटर सायकल कुल 60 हजार का समान जप्त किया गया है।

ठगी के शिकार होने के बाद प्रार्थी ने ऐसे किया था शिकायत 

  • 5 जून को प्रार्थी मुकेश अग्रवाल सरायपाली ने थाना सरायपाली में रिपोर्ट दर्ज कराई कि
  • उसके घर में टाईल्स सोना, चॉदी के जेवर और बर्तन साफ करने वाले दो युवक आए।
  • पार्थी ने बताया कि ठगी करने वाले लोग उजाला कंपनी से होना बताया।
  • इनके द्वारा कहा गया कि टाईल्स सोना, चादी के जेवर और बर्तन साफ करते हैं।

चतुराई से इस तरह बदल दिए जेवर

  • प्रार्थी मुकेश अग्रवाल की मां कान्ता अग्रवाल उनके बातों में आ गई
  • और अपने जेवर सोने चैन व सोने की चुडी ठगों के हवाले कर दिया।
  • युवकों ने अपने पास रखे पावडर से महिला के जेवर को साफ करने के बहाने से चतुराई से जेवर को बदल दिया
  • कुछ समय बाद जब महिला को जेवर का नकली होने का अहसास हुआ
  • तो उसने थाना सरायपाली में अप. क्रं0 167/18 धारा 379, 34 भादवि. पंजीबघ्द कराया।

55 हजार रुपए की थी जेवर

  • उक्त जेवरों की कीमत 55 हजार रुपए की थी।
  • पुलिस अधीक्षक संतोष कुमार सिंह उक्त घटना को गंभीरता से लेते हुए
  • सभी थाना प्रभारियों एवं जिला क्राईम ब्रांच की टीम को उक्त घटना के आरोपियों को पकडने
  • और जिले में इस प्रकार की घटना की पुनरावृत्ति न होने हेतु निर्देशित किया।

पढ़िए पूरी घटनाक्रम

क्राईम ब्रांच की टीम अपने मुखबीरों की सहायता से उक्त घटना के आरोपी और इस प्रकार की घटना को अन्जाम देने वालें संदेहियों की तलाश करने लगी। थाना सरायपाली एवं क्राईम ब्रांच की टीम को मुखबीर से सूचना मिली की दो संदिग्ध युवक सरायपाली में दिखाई दिए।

निश्चित ही किसी अपराध कों अंजाम देने की फिराक में है। उक्त सूचना पर क्राईम ब्रांच और थाना सरायपाली की टीम द्वारा घेराबंदी कर दो युवकों को पकडा और उनका नाम पता पूछने पर उक्त युवकों ने अपना नाम सुमन कुमार शाह पिता अविनेश शाह उम्र 32 वर्ष सा. पचगछीया थाना गोपालपुर जिला भागलपुर, बिहार. नीरज कुमार शाह पिता नारायण शाह उम्र 24 वर्ष सा. खगहा थाना मिरगंज जिला पुरनिया, बिहार बताया।

प्रारंभ में पुछताछ करने पर अपने आप को टाईल्स साॅफ करने वाला और उजाला कंपनी का ऐजेन्ट बताया। क्राइम ब्राॅच की टीम ने जब उक्त युवकों से गहन पुछताछ किया तो उन्होने बताया कि वह उनकी टीम ने जिसमें 06 लोग है जो टाईल्स, सोने, चाॅदी के जेवर व बर्तन साॅफ करने के बहाने घरों में जाते एवं साॅफ करने बहाने हाथ कि सफाई से सोना व चाॅदी के गहनों चुरा लेते है।

उन्होंने बताया कि उन्होने ओडिशा एवं छत्तीसगढ के विभिन्न जगहों पर इस प्रकार की घटना को अंजाम दिया है आज से तीन दिन पूर्व सरायपाली में एक घटना को अंजाम देते हुये एक महिला से सोने की चुडी एवं चैन चुरा लिये थे। टीम या समूह के अन्य सदस्य सरायपाली एवं आस-पास इस प्रकार की घटना को अंजाम देने के लिए घुम रहे है।

सभी आरोपी बिहार के हैं

क्राईम ब्राॅच एवं थाना सरायपाली की टीम द्वारा सरायपाली के कुटेला वोअर ब्रीज के नीचे एवं झीलमीला चैक के पास पर चार संदिग्ध युवकों को पकडा जिन्हों ने अपना नाम व पता  प्रवेश कुमार शाह पिता सुलेन्दर शाह उम्र 20 वर्ष पचगछिया थाना गोपालपुर जिला भागलपुर, बिहार, 02. ललन शाह पिता अविनेश शाह उम्र 32 वर्ष सा0 सा0 पचगछिया थाना गोपालपुर जिला भागलपुर, बिहार, अमित कुमार पिता संजय सिंह गुप्ता उम्र 27 वर्ष सा. गोंविदपुर थाना महेशपुर जिला खमरिया बिहार,  रोशन कुमार शाह पिता नारायण शाह उम्र 24 वर्ष सा. खगहा थाना मीरगंज जिला पुरनिया बिहार बताया एवं पूछताछ करने पर छत्तीसगढ एवं ओड़िशा सहित देश के कई हिस्सों में अपराध करना स्वीकार किया है

आरोपी के पास से पुलिस ने जब्त किए समान

आरोपीयों के कब्जे से 03 नग मोटर सायकल एवं सोने, चाॅदी के जेवरात जुमला कीमती कुल लगभग 60 हजार- रुपए व सायनिंग पाउडर, हल्दी, सोना पालिस करने का ब्रस, आदि जप्त किया गया है। 4 आरोपियों के खिलाफ धारा 41(1-4),379, 34 भादवि0 एवं दो आरोपी के खिलाफ धारा 379,34 भादवि0 के तहत कार्यवाई  की जा रही है। क्राइम ब्राॅच की टीम गहन पुछताछ कर रही है। सम्भवता छत्तीसगढ के अन्य जिलो एवं देश के कई राज्यों में हुए इस प्रकार के अपराध की खुलासा होने की सम्भावना है।

उक्त टीम के सदस्य बिहार के भागलपुर जिला में निवास करते है एवं एक संगठित गिरोह या एक संगठित अपराध को अंजाम देने के लिए समूह के सदस्य मोटर सायकल से देश के विभिन्न हिस्सों में निकलते है एवं किसी थाना विशेष क्षेत्र को चूनकर वहा के होटल व लाॅज में किरायें का कमरा लेकर रेकी प्रारंभ करते है। इसके पास ओरिजनल आई.डी. होती है। जिससें आसानी से होटल व लाॅज में कमरा मिल जाता है और अपने आप को आसपास के क्षेत्र में होने वाले काम जिसको पहले से देख लिये रहते है।

वहा का कर्मचारी बनाकर पेश करते जिससें होटल व लाॅज वाले को इनके उपर कोई शक नही होता। घटना को अंजाम देकर ये अपने मो0सा0 से अपने मूल निवास स्थान चले जाते है। जहाॅ पर जाकर इनको पकड़ना मुश्किल होता है। क्यों गांव व आसपास के लोगो द्वारा इनके संबंध में कोई जानकारी प्रदान नही करते है। क्राईम ब्राचं एवं थाना सरायपाली की टीम द्वारा आरोपियों का पीछाकर गिरफ्तार करने में सफलता प्राप्त की गई है।

अफसर और कर्मचारी का रहा योगदान

यह सम्पूर्ण कार्रवाई  पुलिस अधीक्षक संतोष कुमार सिंह के निर्देशन में अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक संजय धुुव एवं अनुअ0 सरायपाली राजीव शर्मा के मार्गदर्शन में क्राइम ब्रांच प्रभारी सुभाष पवार, थाना प्रभारी एलआर ठाकुर, उनि0 योगेश सोनी, सउनि. नवधाराम खाण्डेकर, प्रआर. प्रकाश नंद, आर. हेमंत नायक, डिग्री लाल नंद, रमाकांत साहू, संदीप भोई, अनिल मांझी, ललीत यादव, अजय जांगडे़, रवि यादव एंव थाना सरायपाली टीम की सराहनीय भूमिका रही।

Add

बधाई

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button