बजट 2021-22 छत्तीसगढ़ के समग्र विकास और ग्रामीणों एवं आदिवासियों के उत्थान का बजट है: आदित्य भगत, एनएसयूआई, राष्ट्रीय सोशल मीडिया चेयरमैन

रायपुर। वित्तीय वर्ष 2021-22 के लिये मुख्यमंत्री भूपेश बघेल द्वारा पेश किए बजट पर प्रतिक्रिया देते हुए एनएसयूआई, राष्ट्रीय सोशल मीडिया चेयरमैन आदित्य भगत ने कहा कि यह छत्तीसगढ़ के समग्र विकास और ग्रामीणों एवं आदिवासियों के उत्थान का बजट है। उनका कहना है कि एक तरफ जहाँ केंद्र सरकार सभी उपक्रमों का निजीकरण कर रही है, वहीं छत्तीसगढ़ सरकार निजी क्षेत्रों का शासकीयकरण कर रही है। उन्होंने भिलाई के चंदूलाल चंद्राकर स्मृति अस्पताल के शासकीयकरण के संदर्भ यह बात कही।

http://gold! 45000 के करीब आया 10 ग्राम सोने का भाव

उन्होंने इस बजट की तारीफ़ की और मुख्यमंत्री भूपेश बघेल वक्तव्यों पर कहा कि यह वाकई में छत्तीसगढ़ को हाइट पर ले जाने वाला बजट है।आदित्य भगत किसानों और वनवासियों के उत्थान की दिशा में किये गए प्रावधानों से आश्वस्त नज़र आए। वहीं शिक्षा के क्षेत्र में नए प्रावधानों की उन्होंने भूरि-भूरि प्रशंसा की। उनका कहना है कि 119 ने स्वामी आत्मानंद अंग्रेज़ी माध्यम के स्कूलों की स्थापना से उन अभिभावकों को बड़ा लाभ मिलेगा जो महंगे पब्लिक स्कूलों में अपने बच्चे को नहीं पढ़ा सकते। अंग्रेज़ी माध्यम की शिक्षा के प्रसार की दिशा में यह छत्तीसगढ़ सरकार बहुत अच्छा कार्य रही है।

http://इंडिया की सफलता पर चीन को आ रही चीड़..अब वैक्सीन कंपनी पर हैकर्स का निशाना

साथ ही बस्तर संभाग के लिये विशेष बल बस्तर टाइगर्स के गठन के प्रावधान पर आदित्य भगत कहना है कि बस्तर क्षेत्र की आंतरिक सुरक्षा के लिये अभूतपूर्व कदम है। छत्तीसगढ़ के राज्य पुलिस मुख्यालय में राज्य फोरेंसिक लैब के लिये 20 पदों का सृजन किया जाएगा। इसके लिये एक करोड़ पैंतीस लाख रूपये का प्रावधान किया गया है। इस पर आदित्य भगत का कहना है- “आज रोजमर्रा के कामों में इंटरनेट का इस्तेमाल बढ़ गया है। लोग ऑनलाइन पेमेंट करते हैं, यूपीआई-मोबाइल वालेट, का इस्तेमाल बढ़ रहा है। साथ-साथ साइबर क्राइम भी उल्लेखनीय रूप से बढ़ा है। आये दिन लोग ठगी का शिकार हो रहे हैं। ऐसे में छत्तीसगढ़ सरकार का निर्णय साइबर सुरक्षा को बढ़ाने की दिशा में मज़बूत कदम है”

Leave a Comment