CG “डायरी’ कांड’ से मचा बवाल, 366 करोड़ के भ्रष्टाचार की शिकायत, BJP ने मोर्चा खोला, CM के पास पहुंचे एजुकेशन मिनिस्टर

प्रदेश में अब नया डायरी कांड सामने आया है। इस कथित डायरी कांड से राजनीति में बवाल हो गया है। इस कथित डायरी के पन्नो में लेन-देन की बातों के साथ शिक्षा विभाग के उप संचालक के नाम से सीएम तक शिकायत पहुंची है

रायपुर। प्रदेश में अब नया डायरी कांड सामने आया है। इस कथित डायरी कांड से राजनीति में बवाल हो गया है। इस कथित डायरी के पन्नो में लेन-देन की बातों के साथ शिक्षा विभाग के उप संचालक के नाम से सीएम तक शिकायत पहुंची है। पहले उप संचालक ने इसके खिलाफ पुलिस में शिकायत की। विपक्ष हमलावर हुआ तो खुद स्कूल एजुकेशन मिनिस्टर डॉ. प्रेमसाय सिंह टेकाम (Dr. Premsai Singh Tekam), CM भूपेश बघेल के बंगला में पहुंच गए। मिनिस्टर ने जांच की मांग की है।

लोक शिक्षण संचालनालय के उप संचालक आशुतोष चावरे के हस्ताक्षर वाला फर्जी शिकायती पत्र इस समय सोशल मीडिया वायरल है। इसमें एक डायरी के पन्नों का हवाला देते हुए शिक्षकों के पदस्थापना में 366 करोड़ के लेनदेन का हवाला दिया गया है। वायरल डायरी के सामने आने के बाद उप संचालक आशुतोष चावरे (ashutosh chavere) ने राखी थाने में अपनी तरफ से एफआई दर्ज कराई है।

पहले ही शिक्षा विभाग में लग चुके हैं भ्रष्ट्राचार का आरोप

उपसंचालक का कहना है, अज्ञात लोगों ने उनके नाम, पदनाम और सील का गलत उपयोग कर फर्जी शिकायत पत्र तैयार किया है। इसे जनप्रतिनिधियों तथा विभिन्न संस्थानों को भेजा जा रहा है। इस कथित शिकायती पत्र में स्कूल एजुकेशन मिनिस्टर  डॉ. प्रेमसाय सिंह टेकाम (Dr. Premsai Singh Tekam), उनकी पत्नी और ओएसडी  पर सीधे आरोप लगाए गए हैं।

बतादें, सरगुजा विकास प्राधिकरण के उपाध्यक्ष बृहस्पत सिंह की अगुवाई में कांग्रेस MLA भी स्कूल शिक्षा विभाग में भ्रष्टाचार का आरोप पहले लगा चुके हैं। बृहस्पत सिंह ने तो उस वक्त साफ शब्दों में कहा था, मिनिस्टर के यहां लेनदेन के कारण से उनके MLA-कार्यकर्ताओं का ही काम नहीं हो रहा है। छत्तीसगढ़ की राजनीति में डायरी और CD का उपयोग नया नहीं है।

2015 में नागरिक आपूर्ति निगम के अफसरों-कर्मचारियों के ठिकानों पर पड़े SEB –EOW छापों के बाद भी एक डायरी की मौजूदगी का पता चला था। कांग्रेस ने इसे चुनावी मुद्दा बनाया। तत्कालीन कांग्रेस अध्यक्ष भूपेश बघेल बार-बार पूछते थे कि डायरी में दर्ज CM मैडम कौन हैं। डायरी के आधार पर कांग्रेस तत्कालीन CM डॉ. रमन सिंह को घेरने में बहुत हद तक कामयाब रहे।

अच्छी खबर, 20 रुपए तक कम हुआ खाने का तेल, जानें अब नए दर

BJP बोली, ऐसी कई डायरियां सामने आएंगी

भाजपा MLA दल के नेता धरमलाल कौशिक ने कहा, 366 करोड़ का लेन-देन तो सिर्फ एक अधिकारी के डायरी में है। ऐसी कई डायरियां अभी सामने आने वाली हैं। डायरी में बडे सिलसिलेवार तरीके से एक-एक व्यक्ति से लेन-देन का विवरण बताता है कि कांग्रेस सरकार (Congress government) कितनी भ्रष्ट है। उन्होंने कहा कि आखिरकार कौन सी भाभी जी को और कौन से बड़े साहब को राशि दी गई है। भाभी जी को 25 करोड़ रुपए कई किश्तों में पहुंचाया गया है। बड़े साहब को भी कई करोड़ रुपए पहुंचाए गए हैं। नेता प्रतिपक्ष (opposition leader) ने पूरे मामले की जांच की मांग की है।

एजुकेशन मिनिस्टर ने बताया, BJP का षड्यंत्र

एजुकेशन मिनिस्टर डॉ. प्रेमसाय सिंह टेकाम (Dr. Premsai Singh Tekam),  ने इस पूरे एपिसोड को BJP का षड़यंत्र बताया है। टेकाम ने कहा, यह पूरा मामला फर्जी है। जिनके नाम से शिकायत हुई है उसने थाने में शिकायत की है कि उसने कोई शिकायत नहीं की है। उसके नाम और हस्ताक्षर का दुरुपयोग किया गया है। डॉ. टेकाम (Dr. Premsai Singh Tekam) ने कहा, सबको याद होगा कि 2018 के चुनाव के समय भी एक फर्जी पत्र वायरल हुआ था। इसमें संचार विभाग के अध्यक्ष शैलेश नितिन त्रिवेदी  (President Shailesh Nitin Trivedi) और प्रभारी महामंत्री गिरीश देवांगन के नाम और पैड का उपयोग कर कहा गया था कि सत्ता में आने के बाद कर्जमाफी नहीं होगी। यह BJP का बनाया शिगुफा था। इस बार भी BJP की ओर से सरकार को बदनाम करने की साजिश की गई है।

https://twitter.com/WebMorcha

https://www.facebook.com/webmorcha

https://www.instagram.com/webmorcha/

Back to top button