मेरा गांव मेरा शहर

चार को मौत के घाट उतारने वाला पड़ोसी ही निकला, पुलिस ने किया गिरफ्तार, जल्द खुलासा

किशनपुर में हुए 4 हत्या का मामले गांव के ही पड़ोसी युवक निकला हत्यारा आरोपी युवक पुलिस के  हिरासत में है। महासमुन्द पुलिस अधीक्षक के नेतृत्व मे क्राइम ब्रांच व पिथौरा पुलिस की टीम की संयुक्त कार्रवाई  देर रात में हुई है।  वारदात मे प्रयुक्त हथियार जब्भीत किया गया है। आज पुलिस करेगी मामलेे की पूरी खुलासा।

अभी तक के जानकारी में

टगिया और टीवी जब्त

सभी मोबाइल व फरसा भी जब्त
आलमारी से नगद राशि व सोने चांदी के जेवरात की भी की थी चोरी
घटना को अंजाम देने के बाद से था गायब
क्राइम ब्रांच को सफलता मिलने की खबर
2लाख 40 हजार रु तथा 50 ग्राम सोना
आरोपी का नाम धर्मेंद्र बरिहा पिता मेघनाथ बताया जा रहा है?
आरोपी के पास से एक लेपटॉप भी मिला जो स्कूल से चुराई गई थी
लूट और चोरी की नियत से ही हुई थी हत्या
आरोपी मृतकों के पहचान का था इसीलिए कर दिया हत्या

आरोपी ने क्या कहा : देखें वीडियो 

पुलिस ने ऐसे किया खुलासा

किशनपुर सामूहिक हत्याकांड का खुलासा….अपमान से क्षुब्ध प्लंबर ने पति-पत्नी और उनके दो बच्चों की हत्या कर डाली, आरोपी गिरफ्तार

महासमुंद, 2 जून 2018। 30-31 मई की दरमियानी रात जिले के पिथौरा से पाँच किलोमीटर दूर किशनपुर में महिला स्वास्थ्य कार्यकर्ता समेत उसके पूरे परिवार की नृशंस हत्या के मामले में पुलिस ने आरोपी को हिरासत में ले लिया है। नृशंस और लोमहर्षक इस हत्याकांड की वजह लूट और अपमान से क्षुब्धता थी।
हतप्रभ कर देने वाले इस हत्याकांड की जाँच में पूरी ताक़त से जुटी पुलिस को आरोपी तक पहुँचने में सफलता तब मिली जबकि मृतक परिवार के घर से ग़ायब मोबाईल आरोपी ने सिम बदल कर चालू कर दिए। पुलिस ने आरोपी के घर जामा तलाशी के दौरान मोबाईल के साथ साथ मृतका के गहने,नक़दी रक़म, और हत्या में प्रयुक्त हथियार और योगमाया के घर के सीसीटीव्ही की एलईडी के साथ ख़ून से सने कपड़े भी बरामद किए हैं।

आरोपी युवक धर्मेंद्र बरिहा किशनपुर का ही निवासी है,और वह मृतक परिवार के पूरे घर से परिचित था, आरोपी युवक ने मृतक परिवार के घर पर पाईप फिटिंग किया था और गैरेज भी बनाया था।
पुलिस पूछताछ में आरोपी ने बताया है कि,हिसाब को लेकर उसका विवाद योगमाया के पति चेतन साहू से हुआ था, और यह विवाद सार्वजनिक रुप से उसे अपमानित करते हुए भी हुआ था।
घटना रात करीब ढाई बजे आरोपी ने तब अंजाम दिया जबकि वह छत के ज़रिए घर में घुसा, आरोपी हत्या की नियत से ही घर में घुसा था उसने चापड़ नाले वाले रास्ते से पहले ही घर के भीतर रख दिया था।धर्मेंद्र जब भीतर पहुँचा तो योगमाया का पति जाग रहा था, दोनों के बीच धक्का मुक्की और शोरगुल हुआ, धर्मेंद्र ने सबसे पहले उसे मारा, शोर सुनकर जागी और पहुँची योगमाया जब चीख़ने लगी तब उसे मारा और उसके बाद दोनों बच्चों को भी चापड़ से मार दिया। बेरहमी की हद पार कर चुके आरोपी धर्मेंद्र ने चापड़ से गला रेत कर सभी को मार डाला।
पुलिस कप्तान संतोष सिंह ने बताया
“आरोपी ने अकेले ही घटना को अंजाम दिया है, आरोपी के विरुद्ध पर्याप्त और पुख़्ता साक्ष्य हमारे पास हैं, नृशंस हत्याकांड को अंजाम देने वाले आरोपी को न्यायालय से सजा मिलकर रहेगी”

यहां पर यह भी पढ़े

http://चार लोगों की निर्मम हत्या

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button