ज्योतिष/धर्म/व्रत/त्येाहारमेरा गांव मेरा शहरलेख-आलेख

चाणक्य नीति: ऐसे लोग दुनिया पर बोझ की तरह होते हैं जानिए क्‍या है वह बात  

चाणक्य नीति: Chanakya Niti आचार्य चाणक्‍य ने सफल जिंदगी जीने के लिए कुछ बातें बताई हैं. साथ ही उन्‍होंने कुछ कार्यो से दूर रहने के लिए भी कहा है. यदि मनुष्य इन जरूरी बातों का पालन न करे तो उनका जिंदगी बेकार है...

Chanakya Niti: महान विद्वान आचार्य चाणक्‍य (Acharya Chanakya) ने अपने नीति शास्‍त्र में बताया है कि आदर्श जीवन कैसा होता है. साथ ही उन्‍होंने आदर्श जीवन जीने के तरीके भी बताए हैं. चाणक्‍य नीति (Chanakya Niti)  कहती है कि यदि व्‍यक्ति अपने जीवन में कुछ खास काम न करे तो उसका जीवन व्‍यर्थ है. उन्‍होंने चाणक्‍य नीति (Chanakya Niti)  में बताया है कि किन स्थितियों में व्‍यक्ति धरती पर बोझ की तरह हो जाता है. यहां तक कि ऐसे लोगों का साथ दूसरों तक का जीवन बर्बाद कर देता है.

बेकार है ऐसा जिंदगी

आचार्य चाणक्‍य एक श्लोक के जरिए कहते हैं-

‘येषां न विद्या न तपो न दानं

ज्ञानं न शीलं न गुणो न धर्मः.

ते मर्त्यलोके भुवि भारभूता

मनुष्यरूपेण मृगाश्चरन्ति ॥’

इस श्‍लोक में उन्‍होंने ऐसे कामों के बारे में बताया है, जिन्‍हें न करने वाले लोगों का जीवन बेकार होता है. ऐसे लोग धरती पर बोझ की तरह होते हैं.

ज्ञान न लेने वाले लोग: जो लोग ज्ञान अर्जित न करें, उनका जीवन बेकार है. जीवन में जितना संभव हो व्‍यक्ति को ज्‍यादा से ज्‍यादा ज्ञान लेने की कोशिश करनी चाहिए.

चाणक्य नीति: यदि जीवन में है भय, तो चाणक्य की बात को बांध लें गांठ

पूजा-पाठ और दान न करने वाले लोग: (Acharya Chanakya) ऐसे लोग जो भगवान की भक्ति नहीं करते हैं और कभी दान-पुण्‍य नहीं करते हैं, ऐसे लोगों का जीवन बेकार है. व्‍यक्ति को अपने  इस जन्‍म और अगले जन्‍म को बेहतर बनाने के लिए भगवान की आराधना भी करनी चाहिए और जरूरतमंदों को दान भी करना चाहिए.

(Acharya Chanakya) अच्‍छा आचरण न करने वाले लोग: ऐसे लोग जिनका आचरण खराब हो. जिनके काम उनकी और उनके परिवार की छवि खराब करें, ऐसे लोग भी धरती पर बोझ के समान हैं. व्‍यक्ति को हमेशा ऐसा आचरण करना चाहिए जो उसे और उसके परिवार को सम्‍मान दिलाएं.

https://twitter.com/WebMorcha

 

https://www.facebook.com/webmorcha

 

https://www.instagram.com/webmorcha/

Related Articles

Back to top button