चाणक्य नीति: मनुष्य को गरीबी के रास्ते पर ले जाती है ये चार बातें… उसकी ये आदतें, धीरे-धीरे कर देती है दरिद्रता

0
39
webmorcha.com
चाणक्य (Chanakya Niti)

आचार्य चाणक्य (Acharya Chanakya) ने अपने ग्रंथ नीति शास्त्र में मनुष्य के जीवन से जुड़ी कई नीतियों का वर्णन किया है। ये नीतियां मनुष्य को सफलता का रास्ता दिखाने के साथ ही धर्म का मार्ग भी बताती हैं। चाणक्य (Acharya Chanakya) एक नीति में कहते हैं कि व्यक्ति धन का सच्चा साथी है।  नीति शास्त्र के अनुसार, मनुष्य की 4 आदतें ही उसे गरीबी के रास्ते पर लेकर जाती हैं। इन आदतों के कारण मनुष्य जीवन में दुखों को लाता है। जानिए कौन-सी हैं ये आदतें-

दिनचर्या ठीक न होना

चाणक्य (Acharya Chanakya) कहते हैं कि शरीर को साफ-सुथरा रखने के साथ ही दांतों और कपड़ों की साफ-सफाई भी जरूरी होती है। जो लोग नियमित गंदे वस्त्र पहनते हैं और नहाते नहीं है, उन पर मां लक्ष्मी की कृपा कभी नहीं बरसती है। इनका अधिकतर धन बीमारियों में ही खर्च हो जाता है।

कड़वा बोलने की आदत

चाणक्य (Acharya Chanakya) कहते हैं कि जो लोग मधुर और सच्चा बोलते हैं, उन्हें हर कोई पसंद करता है। वहीं जिनकी कड़वा बोलने की आदत होती है, ऐसे लोग सभी जगह नेगेटिविटी फैलाते हैं। उनके कामयाबी के रास्ते भी बंद हो जाते हैं। इसलिए मनुष्य को हमेशा मीठा और अच्छा बोलना चाहिए।

Chanakya Niti : ऐसे शिक्षा और दौलत दोनों किसी काम के नहीं रहते, जानिए चाणक्य ने अपने नीति में क्या कहा था…

नियमित भोजन न करना

चाणक्य (Acharya Chanakya) कहते हैं कि मनुष्य के जीवन में भोजन का विशेष महत्व होता है। हर व्यक्ति को समय से भोजन करना चाहिए। ताकि हमारी ऊर्जा बरकरार रह सके। वहीं जो लोग जरुरत से ज्यादा भोजन करते हैं और जिन लोगों का दिमाग खाने में ही लगा होता है। ऐसे लोग धन का संचय नहीं कर पाते हैं।

सुबह जल्दी न उठना

चाणक्य (Acharya Chanakya) के मुताबिक, हर मनुष्य को सुबह जल्दी उठना चाहिए। सुबह देर से उठने वालों की ओर कई तरह की बीमारियां आकर्षित होती हैं। ऐसे लोगों पर मां लक्ष्मी की कभी कृपा नहीं होती है। ये अपना जीवन अभावों में जीते हैं।

https://twitter.com/home             

https://www.facebook.com/?ref=tn_tnmn

https://www.facebook.com/webmorcha/?ref=bookmarks