चाणक्य: आस्तीन का सांप है इस तरह का मित्र, दुश्मन से भी अधिक है डेंजर

आचार्य चाणक्य (Acharya Chanakya) की नीतियां और विचार भले ही आपको थोड़े कठोर लगे लेकिन ये कठोरता ही जीवन की सच्चाई है। हम लोग भागदौड़ भरी जिंदगी में इन विचारों को भले ही नजरअंदाज कर दें लेकिन ये वचन जीवन की हर कसौटी पर आपकी मदद करेंगे। आचार्य चाणक्य (Acharya Chanakya) के इन्हीं विचारों में से आज हम एक और विचार का विश्लेषण करेंगे। आज के विचार में आचार्य चाणक्य ने बताया है कि किस तरह का मित्र सबसे अधिक डेंजर होता है।

दुश्मन से भी ज्यादा खतरनाक

आचार्य चाणक्य (Acharya Chanakya) ने इस कथन में कहा है कि यदि आपका मित्र आपको सही रास्ता नहीं दिखा रहा है तो वो आपके दुश्मन से भी ज्यादा खतरनाक है। ऐसा इसलिए क्योंकि दोस्त पर आप हमेशा भरोसा करते हैं। आपको उस पर ये विश्वास होता है कि यदि आप कुछ गलत करेंगे या फिर करने की सोच रहे होंगे तो वो आपको सही रास्ता दिखाएगा। लेकिन यदि आपका दोस्त ऐसा नहीं करता है तो वो आस्तीन के सांप से कम नहीं है।

चाणक्य की इस पांच बातें को जिंदगी में उतार लें…जीवन हो जाएगा बेहतरीन

आंख बंद कर भरोसा कितना सही

असली जिंदगी में हर किसी के कई सारे दोस्त होते हैं। कुछ दोस्त ऐसे होते हैं जिन पर आप आंख बंद करके भरोसा कर सकते हैं। आप दोनों के बीच ऐसा अनकहा विश्वास होता है जिसकी डोर आपकी  मित्रता की नींव होती है। आपको हमेशा उस पर विश्वास होता है कि आप कुछ गलत करेंगे या ऐसा करने की सोचेंगे तो आपका दोस्त सही रास्ता दिखाएगा। कई बार ऐसा होता कि आप कोई रास्ता अपनाते हैं और आपको खुद इस बात का एहसास नहीं होता कि आप सही रास्ते पर हैं या फिर गलत।

ऐसे में आपका मित्र ही होता है जो आपको सही मार्ग दिखाता है। वो आपको बताता है कि आप क्या करने जा रहे हैं। लेकिन अगर आपका दोस्त सब कुछ जानते हुए भी आपको ऐसा करने दे रहा है तो वो आपका दोस्त नहीं है। यहां तक कि वो आपको दुश्मन से भी ज्यादा खतरनाक है। इसी वजह से आचार्य चाणक्य ने कहा है कि जो सही रास्ता ना दिखाए वो दोस्ती दुश्मनी से भी खतरनाक होती है।

https://webmorcha.com/

https://webmorcha.com/category/my-village-my-city/

9617341438, 7879592500,  7804033123

Back to top button