हनुमान छाप चमत्कारी सिक्के से अमीर बनाने का झांसा देकर ठगी, आरोपी गिरफ्तार सिक्का दिखाकर ठगी की कोशिश.

महासमुंद. कभी आपने सुना है, आसमान से धन वर्षा होगी. एक चमत्कारी सिक्का आपकी तकदीर बदल देगा. रांतोरात अमीर बना देगा. Police  के शिकंजे में फंसे शातिर ठग इसी तरह की बातें कर लोगों को अपनी जालसाजी का शिकार बनाया करते थे. छत्तीसगढ़ के महासमुंद के साइबर सेल और खल्लारी Police  ने चमत्कारी सिक्के का झांसा देकर लोगों से ठगी करने वाले ऐसे ही एक गिरोह का पर्दाफाश किया है. इस अन्तर्राजीय गिरोह के 5 सदस्यों को पुलिस ने धरदबोचा है, जिनके पास से ब्रिटिश काल के 2 सिक्के भी जब्त किये गए हैं.

शातिर ठगों को महासमुंद के साइबर सेल और खल्लारी पुलिस ने पकड़ा है. ठगों के गिरोह के सदस्य चमत्कारी सिक्के की मदद से लोगों को अमीर बनने का प्रलोभन देकर ठगी की घटना को अंजाम दिया करते थे. एसपी दिव्यांग पटेल ने बताया कि आरोपी हनुमान छाप सिक्के से अमीर बनने और रुपये कई गुना कराने की बात कर लोगों को ठगी का शिकार बनाते थे. पुलिस ने इनके पास से 2 नग ईस्ट इंडिया कंपनी के जमाने के हनुमान छाप सिक्के, एक कार और 2 मोटर साइकिल और 5 मोबाइल आदि जब्त किए है.

टीम ने की छापेमारी
महासमुंद एसपी ने मामले का खुलासा करते हुए बताया कि, पुलिस को जिले के इम्लीभाठा के प्रार्थी ने शिकायत की थी कि कुछ लोग हनुमान छाप चमत्कारी सिक्का बेचने का झांसा देकर ठगी करना चाहते हैं. शिकायत मिलते ही पुलिस ने टीम बनाकर खल्लारी के पचेड़ा के पास आरोपियों को सिक्का खरीदने के बहाने बुलाकर दबोच लिया. पकड़े गए आरोपियों का नाम सुरेशन दरिया, विष्णु चंद्राकार, टीकम सिंह ठाकुर, जितेंद्र पाल और वेदराम गायकवाड़ है, जो ओडिशा, रायपुर, महासमुंद और तेंदुकोना के निवासी हैं.

रातोंरात अमीर बनाने का झांसा
एसपी ने बताया कि, ओडिशा निवासी सुरेशन सहित अन्य चार व्यक्ति दो-चार बार महासमुंद आकर पुराना हनुमान छाप सिक्का को चमत्कारी बताते हुए रातों -रात अमीर बनाने का झांसा दे रहे हैं एवं उसे बेचने से पांच से दस लाख रुपए मिलने की बात कहते हुए ग्राम पचेडा के जंगल में पैसे लेकर आने को कहा है. सूचना पर साइबर सेल व खल्लारी थाना की टीम जब जंगल पहुंचकर देखा तो कुछ लोग वेगनार क्रमांक सीजी 04 एचसी 8489 और मोटरसाइकिल क्रमांक ओ डी 26 ई 3360 पर बैठे इंतजार कर रहे थे.

Police  ने घेराबंदी कर दबोचा
पुलिस ने उनकी घेराबंदी कर नवापारा ओडिशा निवासी सुरेश दरिया (45 ), बरबसपुर महासमुंद निवासी विष्णु चंद्राकर (51 ) चंदखुरी थाना मंदिर हसौद रायपुर निवासी टीकम सिंह ठाकुर (39) मंदिर हसौद निवासी जितेंद्र पाल (38 ) और बुंदेली थाना तेंदूकोना निवासी बेदराम (42 ) को पकड़ा. इनकी तलाशी लेने से उनके पास से दो नग पुराना ईस्ट इंडिया कंपनी के समय का हनुमान छाप सिक्का व चावल, ब्लेड, एक कार, 2 मोटरसाइकिल व 5 मोबाइल फोन जब्त किया है. पूछताछ करने पर आरोपियों ने बताया कि सिक्का, सुई, ब्लेड व चावल को अपनी तरफ खींचने का रहस्य बताकर लोगों से ठगी करते हैं.