मेरा गांव मेरा शहर

कुमकी हाथी भगाने पहुंचे लोगों को वन विभाग द्वारा लगाए गए सुरक्षा तार में लगा करंट, विधायक चोपड़ा ने विभाग को 10 दिन का दिया अल्टीमेटम

महासमुंद।  मंगवार को विधायक डाॅ. विमल चोपड़ा एवं उनके समर्थको ने बोरिद स्थित कुमकी हाथी विचरण क्षेत्र व वहाॅ उपस्थित वन विभाग के अधिकारियों का घेराव किया। जहाॅ सैकड़ों  की संख्या में ग्रामीण एकत्रित होकर जमकर नारे बाजी की।

  • सिरपुर अंचल के ग्रामीणों को भारतीय जनता किसान मजदूर संघ महामंत्री अजय मंगल ध्रुव ने एकत्रित किया। अध्यक्ष रमाकांत ध्रुव, किर्ती बघेल, सरपंच संघ जिलाध्यक्ष रूपलाल पटेल, प्रेम यादव, उमाकांत साहू, महेन्द्र जैन, जितेन्द्र साहू, राजकुमार ध्रुव, बुधराम ध्रुव, सियाराम ध्रुव, मेंघनाथ साहू, सोहन साहू, सोहन निषाद व सौकड़ो महिला व पुरूष ग्रामीण उपस्थित हुए।

लाखों रुपए खर्च पर परिणाम नहीं

  • विधायक डाॅ. चोपड़ा ने कहा कि कुमकी हाथी अधिकारियों के भ्रष्टाचार का माध्यम बना हुआ है।
  • पाॅच महिने में किसी प्रकार की कोई कार्रवाई वन विभाग द्वारा कुमकी हाथी के माध्यम से जंगली हाथियों के उपर नही किया गया।
  • जबकी उसे प्रशिक्षित हाथी बताकर यहा लाया गया। लाखों रुपए  इस सफेद हाथी में खर्च करने पर भी कोई परिणाम नही मिला।

हाथी प्रभावित ग्रामीणों में आक्रोश

  • जबकी इन दिनों मे जंगली हाथियों का हमला भी बड़ा है।
  • वन विभाग जब  तक कुमकी हाथी नही आए थे तब तक कम से कम कार्रवाई के नाम पर कुछ करते तो थे फटाखे, मशाल, मिट्टी तेल और वन अमले की व्यवस्था तो करते थे
  • । अगर हाथी महानदी पार करते है तो पूरा वन अमला एकत्रित होकर इस क्षेत्र में हाथियों को खदेड़ देते है।
  • आज कि परिस्थिति से ग्रामीणजनों में भारी आक्रोश व्याप्त है।
  • भ्रष्टाचार का पर्याय बने यह कुमकी हाथी से आम जन को किसी प्रकार का कोई लाभ नही हो रहा है बल्की इससे अधिकारियों की चमक बड़ी है।

मौत के बाद मुआवजा का अर्थ नहीं

  • विधायक डाॅ. चोपड़ा आगे कहा कि हाथियों के कारण फसल की नुकसानी पर किसानों को समय पर व सही मुआवजा नही मिल रहा है
  • शासन को चाहिए कि 25 हजार रुपए  प्रति एकड़ मुआवजा करे फिर चाहे वो हाथियों से पूरे खेतो को चराले।
  • हाथी  प्रभावित क्षेत्र के लोगों की जानमाल की लगातार हानि हो रही है किसी व्यक्ति के मौत पर 4 लाख रुपए देकर सरकार अपना पल्ला झाड लेती है।
  • जब हम पर आफत हो तो हम अपनी रक्षा के लिए वन्य प्राणियों पर कोई कार्रवाई भी नही कर पाते अगर गलती से हमारे द्वारा किसी वन्य प्राणी की मृत्यु होती है तो हमे जेल हो जाती है।
  • विधायक डाॅ. चोपड़ा ने कहा कि रेडियों कालर एक या दो हाथी में लगाने से कुछ नही होगा यहाॅ तो हाथियों ने अलग अलग झुंड बना लिया है।

विभाग प्रमुख को जानकारी होते भी नहीं पहुंचे

  • विधायक डाॅ. विमल चोपड़ा व ग्रामीणजन ने वन विभाग के प्रति भारी आक्रोश व्यक्त करते हुए कहा कि जिला के वनमंडलाधिकारी सूचना होने के बावजूद घटना स्थल पर उपस्थित नही है ये गंभीर विषय है।
  • इससे पता चलता है कि वन विभाग अपने कर्तव्यों के प्रति कितना इमानदार है।

आश्वासन के बाद आंदोलनकारियों ने स्थगित किया घेराव

  • वन विभाग के उपस्थित अनुविभागिय अधिकारी से चर्चा पर बताया कि कुमकी हाथी से 7 दिनों के अंदर जंगली हाथियों पर कार्रवाइ करना प्रारंभ किया जाएगा।
  • जिसके तहत रेडियां कालर लगाने की प्रक्रिया होगी।

10 दिन का दिया अल्टीमेटम

विधायक डाॅ. चोपड़ा ने वन अमले को 10 दिनों के भीतर जंगली हाथी पर उचित कार्रवाई करने कहा अन्यथा की स्थिति में विशाल आंदोलन करने की बात कही व हाथियों को यहाॅ से ले जाने कहा गया।

विद्युत प्रवाहित तार से कई लोगो को लगा झटका

  • वन विभाग के द्वारा सुरक्षा के लिए लगाएॅ गए तार घेरे पर विद्युत प्रवाह को बंद नही किया गया जिससे आंदोलन कारियों के कई लोगो को करंट लगा।
  • तार घेेरे की मदद से आंदोलन कारियों को रोका गया।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button