छत्तीसगढ़: महासमुंद कोविड सेंटर में भर्ती मरीज की लावारिश हालात में मिली लाश! जिंदा समझ रहे परिजन को पुलिस के फोन के बाद पता चला

रायपुर। जिला अस्पताल के GNM कोविड सेंटर की गंभीर लापरवाही का मामला सामने आया है। दर्द तो ये रहा कि सेंटर में पदस्थ कर्मचारी मरीज के परिवार वालों को स्वास्थ्य बता रहे थे, उस मरीज को पुलिस ने शव लावारिस हालत में 12 अप्रैल को बेलसोंडा के पास बरामद किया था।  इस लापरवाही का मामला खुलने के बाद गुरुवार को उनके घर वालो को बुलाकर लाश की शिनाख्त की गई।

जानकारी के मुताबिक, मामला सरायपाली ब्लाक के गांव कोदोगुड़ा का है। यहां के निवासी चमरू सिदार (68) की तबियत बिगड़ने पर संजीवनी 108 की मदद से स्वजनों ने जिला हॉस्पीटल के GNM सेंटर स्थित कोविड सेंटर भेजा। स्वजनों ने बताया कि 10 अप्रैल से चमरू यहां भर्ती कराया गया था।

भारत के 80 करोड़ गरीब श्रमिक और किसानों को राहत, गर्वमेंट फ्री में देगी 5 किलो आनाज

साथ में कोई परिजन जिला हॉस्पीटल नहीं आए थे। बाद से चमरू की पुत्री व पुत्र शिवचरण हर दिन कोविड हास्पिटल के नंबर पर फोन कर मरीज का नाम बताकर हाल चाल जानते रहे। यहां से सबकुछ अच्छा बताया जाता रहा।

बाद 21 अप्रैल की शाम सरायपाली TI का फोन परिवार को आया, बताया गया कि चमरू सिदार लापता है। जिससे परिजन पूछताछ करने में लगे। बाद गुरुवार दोपहर खबर मिली कि महासमुंद सिटी कोतवाली पहुंचे। स्वजन इस उम्मीद में गुरुवार शाम थाना पहुंचे कि उनके लापता पिता मिल गए हैं, यहां पहुंचने पर Police ने 12 अप्रैल को बेलसोंडा मारुति शोरूम के पास मिले अज्ञात शव की तस्वीर दिखाई, जिसे देखकर चमरू के पुत्र शिवचरण ने उनके पिता होने की पुष्टि की।