हाईकोर्ट की टिप्पणी के बाद छत्तीसगढ़ सरकार ने 18+ के वैक्सीनेशन लगाई रोक

रायपुर। प्रदेश सरकार ने 18+  के वैक्सीनेशन पर आगामी आदेश तक रोक लगा दी है। प्रदेश सरकार ने हाईकोर्ट (High Court) को जवाब प्रस्तुत करने में संभावित देरी को देखते हुए यह निर्णय लिया है। इस मामले में हाईकोर्ट ने अपर मुख्य सचिव को स्पष्ट पॉलिसी बनाने के निर्देश दिए थे। हाईकोर्ट (High Court) की अगली सुनवाई 7 मई को होगी।

प्रदेश शासन के स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग द्वारा जारी निर्देश में कहा गया है कि हाईकोर्ट (High Court) के आदेश के बाद मुख्य सचिव की अध्यक्षता में सचिवों की एक समिति गठित की है। न्यायालय ने विभाग के 30 अप्रैल के आदेश को संशोधित करने कहा है। कोर्ट के निर्देश के मुताबिक प्रदेश शासन को पूरी जानकारी तैयार करने में समय लगने की संभावना है और ऐसे में यदि टीकाकरण जारी रखा गया तो यह न्यायालय की अवमानना होगी इसलिए आदेश को संशोधन किए जाने तक टीकाकरण को स्थगित किया जाता है। इससे पहले याचिकाकर्ताओं द्वारा इसे संवैधानिक अधिकारों के विपरीत बताया था।

संक्रमितों और मौतों का देश में बना रिकॉर्ड, 24 घंटे में 4 लाख से उपर 3 हजार 838 मौतें

वहीं प्रदेश सरकार की ओर से एडवोकेट जनरल सतीश चंद्र वर्मा द्वारा दिए गए तर्क से हाईकोर्ट (High Court) ने आपत्ति जताते हुए कोर्ट ने ने कहा था कि पूरे राज्य में लॉकडाउन है ऐसे में गरीब तबके को बाहर निकलने से रोकना शासन की जिम्मेदारी है। कोरोना गरीब और अमीर देखकर संक्रमित नहीं कर रही है। कोर्ट ने यह भी कहा था कि यह आदेश कैबिनेट के निर्णय से होना था न किसी अधिकारी द्वारा किया जाना था। इस मामले में हाईकोर्ट (High Court)ने शासन से दो दिन में जवाब मांगा था।

ये है मामला

बतादें प्रदेश सरकार द्वारा 18+ के वैक्सीनेशन में अंत्योदय कार्डधारकों को प्राथमिकता देने का फैसला लिया था। इसके तहत 1 मई से वैक्सीनेशन शुरू किया गया था, लेकिन बहुत कम संख्या में टीका लगवाने आ रहे थे। टीकाकरण में आरक्षण को लेकर हाईकोर्ट (High Court) में याचिका लगाई गई थी।

हमसे जुड़िए

https://twitter.com/home             

https://www.facebook.com/?ref=tn_tnmn

https://www.facebook.com/webmorcha/?ref=bookmarks

https://webmorcha.com/

https://webmorcha.com/category/my-village-my-city/

9617341438, 7879592500,  7804033123