छत्तीसगढ़ एमपी ओडिशा समेत, इऩ राज्यों में जोरदार बारिश की चेतावनी

रायपुर। मौसम में एक बार फिर बदलाव देखने को मिल रहा है। इसका कारण जम्मू-कश्मीर के ऊपर पश्चिमी विक्षोभ यानी वेस्टर्न डिस्टर्बेंस (Western Disturbance) बना हुआ है। जबकि पश्चिम राजस्थान के ऊपर चक्रवाती हवाओं का असर है। मौसम विभाग के अनुसार, उत्तर भारत के अधिकतर इलाकों में पिछले 2-3 दिनों हुई हल्की से मध्यम बारिश ने लोगों को गर्मी से राहत दी है। मौसम विभाग के मुताबिक पंजाब, हरियाणा, राजस्थान, दिल्ली और उत्तर प्रदेश के कुछ इलाकों में पिछले 2 दिनों में हुई हल्की बारिश और धूल भरी आंधी से उमस भरी गर्मी से राहत मिली है। इन राज्यों के न्यूनतम तापमान में औसतन 4 से 5 डिग्री तक गिरावट देखी गई है।

मौसम विभाग के मुताबिक, आज दिल्ली का मौसम साफ रहेगा। वहीं 10 मई को हल्की बारिश हो सकती है। इसके अलगे दिन गरज-चमक के साथ बारिश की संभावना है। 13 मई को भी राजधानी में बादल बरसेंगे। पश्चिमी उत्तर प्रदेश की बात करें तो 10 मई के बाद तीन-चार दिन बारिश के आसार हैं। इस दौरान तापमान में गिरावट दर्ज होगी।

चीन पांच साल से बना रहा Corona जैव हथियार, तीसरे विश्व युद्ध की है तैयारी?

छत्तीसगढ़ समेत इन राज्यों में बारिश की संभावना

वहीं स्काईमेट वेदर के मुताबिक अगले 24 घंटों के दौरान, उप-हिमालयी पश्चिम बंगाल, सिक्किम, असम, मेघालय, अरुणाचल प्रदेश, अंडमान निकोबार द्वीप समूह और केरल में हल्की से मध्यम बारिश के साथ एक दो स्थानों पर भारी बारिश हो सकती है। झारखंड, छत्तीसगढ़, तमिलनाडु, तटीय कर्नाटक, दक्षिण आंतरिक कर्नाटक और लक्षद्वीप के कुछ हिस्सों तथा ओडिशा में हल्की से मध्यम बारिश हो सकती है। पश्चिमी हिमालय, बिहार के कुछ हिस्सों, पूर्वी मध्य प्रदेश, तेलंगाना के कुछ हिस्सों, आंतरिक कर्नाटक और मध्य महाराष्ट्र में हल्की बारिश के साथ एक दो स्थानों पर मध्यम बारिश हो सकती है। पंजाब और राजस्थान में एक-दो स्थानों पर धूल भरी आंधी के साथ छुटपुट बारिश हो सकती है।

 मप्र में बारिश के आसार

मध्य प्रदेश में भी अगले कुछ दिन बारिश की उम्मीद है। आईएमडी के मुताबिक, 10 मई तक राजधानी भोपाल और आसपास के इलाकों में बादल बरस सकते हैं। हालांकि तापमान में कोई खास बदलाव होने की संभावना नहीं है। इंदौर और आस-पास के जिलों में 09 और 10 मई को बारिश होने की उम्मीद है। इसके बाद आसमान साफ रहेगा। जबलपुर क्षेत्र में भी कमोबेश यहीं स्थिति रहेगी।

राहत: छत्तीसगढ़ में कोरोना की रफ्तार हुई धीमी,  बीते एक सप्ताह में संक्रमण दर 8 प्रतिशत तक की कमी