छत्तीसगढ़: ब्लेकमेलिंग के आरोप में सब इंस्पेक्टर निलंबित…तहसीलदार, BMO के साथ मिल कर रहा था ब्लैकमेलिंग

रायगढ़। तीन लाख की ब्लैकमेलिंग करने के मामले में सारंगढ़ थाना प्रभारी कमल किशोर पटेल को निलंबित  कर दिया गया है। SI पर डाक्टर को डरा धमकाकर 3 लाख वसूलने का आरोप है। पीड़ित डॉक्टर की शिकायत के बाद SP संतोष सिंह ने कार्रवाई करते हुए SI को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया है। निलंबन के दौरान SI रायगढ़ मुख्यालय रक्षित केंद्र में तैनात रहेंगे।

मामला सारंगढ़ ब्लॉक अंतर्गत ग्राम हिर्री स्थित वारे क्लीनिक की है। 7 मई को सारंगढ़ थाना प्रभारी कमल किशोर पटेल, सारंगढ़ तहसीलदार सुनील अग्रवाल और BMO डा आरएल सिदार वारे क्लीनिक निरीक्षण के लिए पहुंचे थे। इस दौरान तहसीलदार ने डा वारे से क्लीनिक में अनियमितता के नाम पर कार्रवाई करने की बात कही। साथ ही कार्रवाई नहीं करने के नाम पर पांच लाख की मांग भी की थी, जिसके बाद डा वारे ने तीन लाख रुपए तहसीलदार को रिश्वत के तौर पर देकर मामले को रफा-दफा करवाया। इस दौरान रुपए लेते हुये क्लीनिक में लगे CCTV में तहसीलदार, BMO और थाना प्रभारी कमल किशोर कैद हो गये थे।

महासमुंद, रायगढ़, बलरामपुर, सरगुजा, जशपुर, समेत गरज चमक के साथ भारी बारिश की चेतावनी

CCTV फुटेज क आधार पर डा वारे ने इसकी शिकायत SP संतोष कुमार सिंह से की थी। शिकायत के बाद मामले को गंभीरता से लेते हुये डीएसपी गरिमा द्विवेदी को जांच के आदेश दिये गए थे। जांच को सहीं पाये जाने के बाद एसपी ने उप निरीक्षक कमल किशोर को तत्काल प्रभाव से सस्पेंड कर दिया है। वहीं इस मामले में कलेक्टर ने भी तहसीलदार और BMO के खिलाफ जांच के आदेश दिये है। फिलहाल दोनों अधिकारी के खिलाफ जांच चल रही है। जांच के बाद दोनों के खिलाफ उचित कार्रवाई भी की जाएगी।