छत्तीसगढ़: महिला तहसीलदार की कोरोना से मौत, एक सप्ताह से हालत थी गंभीर

रायपुर। कोविड ने एक महिला तहसीलदार (tehsildar)  को लील ली। बतादें, 2013 बैच की अफसर करिश्मा वर्मा अभी तीन महीने ही गरियाबंद तहसीलदार (Gariaband tehsildar) के रूप में ज्वाइन किया था, इससे पहले वो जगदलपुर में पदस्थ थी। वो 25 दिन पहले कोरोना पॉजेटिव पायी गयी थी। करिश्मा वर्मा के साथ उनके IAS पति चंद्रकांत वर्मा भी पॉजेटिव हुए थे, हालांकि कुछ ही दिन में गरियाबंद जिला पंचायत सीईओ चंद्रकांत वर्मा कोरोना से स्वस्थ्य हो गये, लेकिन तहसीलदार करिश्मा वर्मा की तबीयत बिगड़ गयी। 6 मई को उन्हें रायपुर के एम्स में भर्ती कराया गया।

करिश्मा दुबे (Karishma Dubey) गर्भवती थी, लिहाजा उन्हें कोरोना वैक्सीन भी नहीं लगा था। एम्स में उनकी तबीयत में लगातार उतार-चढ़ाव होता रहा। हालांकि बीच में वो स्वस्थ्य भी हो गयी थी। हॉस्पीटल में रहते करीब एक सप्ताह पहले ही उनकी रिपोर्ट निगेटिव भी आयी थी, लेकिन बाद में वो फिर से पॉजेटिव हो गये। पिछले पांच दिनों से उनकी स्थिति काफी क्रिटिकल हो गयी थी। IAS चंद्रकांत वर्मा और करिश्मा वर्मा का 2 साल का छोटा बेटा शिवाय है। फरवरी में ही उसका दूसरा बर्थडे मनाया था।

चक्रवाती तुफान: आज दिखा सकता है रौद्र रूप..छत्तीसगढ़ समेत यहां बदलेगा मौसम

करिश्मा वर्मा की तबीयत पर निगरानी के लिए एम्स में चिकित्सकों की एक टीम भी तैयार की गयी थी, गर्भवती होने की वजह से उनकी तबीयत ज्यादा बिगड़ती चली गयी, हालांकि उनकी जान बचाने के लिए आबर्सन भी किया गया था, लेकिन उसके बाद उनकी तबीयत और बिगड़ गयी। तीन दिन से उनका आक्सीजन लेवल Oxygen level काफी डाउन चला गया था, साथ ही उनका BP भी काफी लो हो गया। हालांकि एयर एंबुलेंस से उन्हें बाहर ले जाने की भी बात कही जा रही थी, लेकिन स्थिति बेहद गंभीर हो जाने की वजह से उन्हें दूसरी जगह नहीं ले जाया जा सका।