किसानों और कृषि संवाद बैठक दिल्ली में शामिल हुए पूर्व राज्य मंत्री पूनम चंद्राकर 

7 अप्रैल 2018, भाजपा केंद्रीय कार्यालय नई दिल्ली के मल्टीपर्पज हॉल में किसान

मोर्चा के राष्ट्रीय पदाधिकारी, प्रदेश अध्यक्ष एवं प्रदेश महामंत्रियों की एक दिवसीय संवाद बैठक किसान मोर्चा राष्ट्रीय अध्यक्ष वीरेंद्र सिंह मस्त के अध्यक्षता में सम्पन्न हुई।

–  बैठक में केंद्र सरकार एवं भाजपा शासित राज्य सरकारों के किसान एवं कृषि से संबंधित उपलब्धियों पर चर्चा

हुई एवं आगामी कार्यक्रम भी तय हो गया। बैठक में 29 प्रदेश के पदाधिकारी उपस्थित मौजूद थे।

– बैठक को भाजपा संगठन महामंत्री रामलाल, भाजपा सह- संगठन महामंत्री शिवप्रकाश, राष्ट्रीय संगठक हृदयनाथ सिंह, . सुनील पांडेय, भाजपा राष्ट्रीय महामंत्री भूपेंद्र यादव, एवं डॉ अनिल जैन, किसान मोर्चा पूर्व अध्यक्ष एवं सांसद विजयपाल सिंह तोमर ने संबोधित किया।

छग का प्रतिनिधित्व किया पूनम

  • छतीसगढ़ से पूनम चन्द्राकर प्रदेश अध्यक्ष भाजपा किसान मोर्चा एवम प्रदेश महामंत्री किसान मोर्चा द्वय भारत सिसोदिया एवम द्वारकेश पांडेय ने प्रतिनिधित्व किया ।
  • सभी प्रदेश के पदाधिकारी हुए शामिल

भाजपा किसान मोर्चा की किसान संवाद बैठक में राष्ट्रीय पदाधिकारियों और सभी प्रदेशों की ओर से भाजपा किसान मोर्चा के प्रदेश अध्यक्ष एवं प्रदेश महामंत्रियों ने भाग लिया । बैठक में पिछले क़ार्यक्रमों की समीक्षा और आगामी कार्यक्रमों के बारे में विस्तार से चर्चा हुई।

  • भाजपा किसान मोर्चा के राष्ट्रीय अध्यक्ष सांसद बीरेन्द्र सिहं मस्त  ने ग्रमोदय तथा किसान संवाद के माध्यम से सरकार की योजनओं को किसान तक ले जाने पर बल दिया
  • राष्ट्रीय सह संगठन महामंत्री शिव प्रकाश ने कार्यकर्ताओं के सही चयन पर और संगठन को मण्डल स्तर तक मज़बूत करने पर बल दिया
  • प्रशिक्षण प्रमुख सुनील पाण्डेय जी मोर्चा में प्रशिक्षण कार्यक्रम कराने के लिए उचित तिथि अवगत कराने को कहा संगठन महामंत्री राम लाल ने ग्राम पंचायत स्तर तक संगठन मज़बूत करने और सोशल मीडिया के माध्यम से नीतियों के प्रचार प्रसार पर बहुत ज़ोर दिया ।
  • बैठक में भाजपा के राष्टीय महामंत्री एवं राज्य सभा सांसद भूपेन्द्र यादव एवं राष्ट्रीय महामंत्री राज्य सभा सांसद  अनिल जैन जी ने अपना मार्ग दर्शन दिया ।
  • यहां यह भी पढ़िए http://छग के किसान आधुनिक खेती सीखकर आएंगे

http://जानिए पूनम ने महामाया में माथा टेक यह क्या मांग लिया

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button