महासमुन्द

चोपड़ा के मंगल मुहूर्त पर भाजपा को थी अमंगल की आशंका ,फिर क्या हुआ जानिए यहां


महासमुंद। श्रेय की होड़ ने सियासी फिजां में कुछ ऐसा रंग घोल दिया है कि लोग विकास के मायने समझने में दिक्कत महसूस कर रहे हैं। जीहां महासमुंद में इन दिनों सियासत बदरंग हो गई है और जनता चौराहे की चर्चा में नीरक्षीर की कोशिश में हैं। खरोरा से लभरा तक सड़क चौड़ीकरण का काम शुरू होना है, डिवाइडर बनाकर उसमें पौधे और रोशनी का प्रबंध किया जाना है। सरकार ने जनता के पैसे को जनता की सुविधा में लगाने का ऐलान किया है और इसमें 58 करोड़ लगाने की बात कही है। तकनीकी और प्रशासनिक मंजूरी मिली और उन कयासों पर विराम दिया लग गया, जिसकी धुध लोगों के जेहन पर थी, लेकिन बात यहां खत्म होने के बजाए शुरू हो गई और वह बात श्रेय की बन गई।

  • ऐसा इसलिए हुआ कि विधायक ने अपने प्रयासों का हवाला देकर मंगल मुहूर्त 20 मार्च को इस विकास की आधारशिला रखने की घोषणा की तो भाजपा को इसमें श्रेय का अमंगल दिखने लगा और दो दिन पहले ही रविवार 18 मार्च भूमिपूजन कर यह बताने की कोशिश कर दी कि यह शुभकार्य उनके बूते हो रहा है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button