कलेक्टर ने पिथौरा के दूरस्थ गांव सुईनारा पहुंचकर पात्र हितग्राहियों के टीकाकरण की जानकारी ली

0
65

महासमुन्द। राज्य शासन द्वारा कोविड-19 टीकाकरण के कार्य को सर्वाेच्च प्राथमिकता में दी गई है। महासमुन्द जिले में वर्तमान में करीब 80 प्रतिशत नागरिकों ने कोविड वैक्सीनेशन के तहत पहले डोज का टीका लगवा लिया है लेकिन अभी भी करीब 20 प्रतिशत नागरिकों द्वारा टीकाकरण नहीं कराया गया है। कलेक्टर डोमन सिंह ने टीकाकरण की गति को बढ़ाने हेतु बूथ लेवल अधिकारियों को घर-घर सर्वे कर सूची तैयार करने के लिए निर्देशित किया है। जिससे छूटे हुए नागरिकों को टीकाकरण के लिए प्रेरित करने में सहायता मिल सके।

कलेक्टर ने कहा है कि टीकाकरण हेतु शेष बचे लगभग 20 प्रतिशत लोगों की जानकारी संकलित करने एवं उनके बीच अगर टीकाकरण के संबंध में कोई भ्रम है तो उसके निवारण में बूथ लेवल अधिकारियांे, ऑगनबाड़ी कार्यकर्ता, मितानिन की महत्वपूर्ण भूमिका है। जिले में अभी तक 06 लाख 11 हजार 683 लोगों ने कोविड टीकाकरण का प्रथम डोज लगवाया है तथा एक लाख 62 हजार 329 लोगों ने टीके का दूसरा डोज भी लगवा लिया है। मालूम हो कि जिले के सभी नगरीय क्षेत्रों सहित सरायपाली विकासखण्ड के ग्रामीण अंचलों के पात्र हितग्राहियों का भी शत्-प्रतिशत् टीकाकरण हो चुका है। आगामी कुछ दिनों में बसना विकासखण्ड के सभी पात्र हितग्राहियों का शत्-प्रतिशत् टीकाकरण हो जाएगा।

कलेक्टर ने पिथौरा विकासखण्ड के दूरस्थ गांव सुईनारा के भ्रमण के दौरान पात्र हितग्राहियों को वैक्सीनेटर द्वारा टीका लगाने की जानकारी ली। इस पर वैक्सीनेटर ने बताया कि आगामी एक-दो दिन में इस गांव के छूटे हुए सभी पात्र हितग्राहियों का टीकाकरण कर लिया जाएगा। कलेक्टर ने जिले के छूटे हुए सभी पात्र नागरिकों से कोविड टीकाकरण कराने की अपील की है और कहा कि यह टीका पूरी तरह सुरक्षित है। इस अवसर पर एसडीएम पिथौरा श्री बी.एस. मरकाम, जनपद पंचायत सीईओ प्रदीप प्रधान सहित अन्य अधिकारी उपस्थित थे।