कोमाखानमहासमुन्द

बिजली व्यवस्था चरमराई, लोगों में गुस्सा, कांग्रेस नेता अमरजीत ने कहा सैय्या भए कोतवाल तो डर काहे का

महासमुंद।  पूर्व कांग्रेस जिला अध्यक्ष  अमरजीत चावला ने कहा एक वृक्ष गिरने की वजह से रिपेरिंग और लाइन सुधारने के नाम पर 7 घंटे तक जिला मुख्यालय में बिजली बन्द होने की वजह से बिजली विभाग की तैयारियों की पोल खुल गई। उन्होंने कहा कि हर साल बरसात पूर्व कई घंटें लोगों को अंधेरे में रख मेंटनेंस के नाम पर लाखों रुपए खर्च किया जाता है। बावजूद बारिश होते ही विभाग की हर साल कार्यप्रणाली उजागर होती है।

http://पढ़िए: आज का सटिक राशिफल: वृष राशि वाले जातक आज वाणी पर रखे नियंत्रण

उन्होंने कहा कि विभाग के आला अफसर से लेकर कर्मचारी शाम होते ही घर में जाकर दूबक जाते हैं, ठेका कर्मचारी के भरोसे आम जनता और उपभोक्ता को छोड़ दिया जाता है। शहर सहित ग्रामीण क्षेत्रों में बिजली व्यवस्था पूरी तरह से चरमरा गई है।

http://शौचालय निर्माण में करोड़ों की गड़बड़ी, हितग्राही की राशि डकार लिए सरपंच-सचिव और अफसर

उन्होंने शासन-प्रशासन पर तंज कसते हुए कहा सैय्या भए कोतवाल तो डर काहे का। कुछ इसी तरह के मुआवरा के साथ यहां अफसरों का रवैया लोगों के सामने दिख रहा है।

यहां पढ़े: http://हल जोतता हुआ किसान चिन्ह से जोगी पार्टी आगामी विधानसभा चुनाव मैदान में होंगे

एक वृक्ष के गिरने पर 7 घंटे अंधेरा

  • जारी बयान में कांग्रेस के पूर्व जिलाध्यक्ष अमरजीत चावला ने कहा कि प्रदेश का दुर्भाग्य है
  • कि ऊर्जा विभाग का दायित्व प्रदेश के मुख्यमंत्री के पास है
  • उसके बावजूद मात्र एक वृक्ष गिरने की वजह से जिला मुख्यालय में 7 घंटे तक रिपेयरिंग के नाम से बिजली बंद कर दी जाती है
  • और अधिकारी अपना फ़ोन बन्द करके बैठ जाते है सी एस ई बी आफिस में कोई फोन उठाने वाला नही रहता

http://12 करोड़ की लागत से लोहराकोट में बनेगा मॉडल कॉलेज रूपकुमारी की एक और बड़ी सौगात

बिजली बिल की मनमानी वसूली

  • चावला ने कहा कई समय से बिजली विभाग में स्टाफ की कमी है और ऊपर से जब से निजीकरण किया गया है।
  • तब से एवरेज बिल,अधिक बिल, अनियमित बिल,अघोषित कटौती जैसी समस्याओं की बाढ़ आ गइ है।
  • बिल में ऊर्जा कर ,उप कर ,सुरक्षा निधि जैसे कई कालम है जिसकी आड़ में अनाप-शनाप बिल भेजा जा रहा।
  • आम उपभोक्ता बिजली विभाग के चक्कर काटने और बिल सुधरवाने में ही अपना दिन व्यतीत करने ने व्यस्त हो गया है।
  • कोई सुनवाई करने वाला नही है

यहां पढें: http://27-28 जुलाई को शताब्‍दी का सबसे लंबा संपूर्ण चन्‍द्रग्रहण मंगल और सूर्य एक दूसरे के आमने–सामने होंगे

संकल्प का किया जा रहा झूठा दावा

  • क्षेत्र के तथाकथित श्रेय पुरुष और जनप्रतिनिधि झूठे संकल्पों में व्यस्त है ,
  • जिनकी छुट्टी इस साल के अंत मे जनता करने वाली है
  • वो जनप्रतिनिधि मार्च तक काम करवाने का संकल्प करने का झूठा दावा कर रहे है।
  •  कांग्रेस नेता ने कहा इस घटना से विकास यात्रा निकालने वालो की पोल खुल गई है।

यहां पर पढ़िए: http://29 जुलाई को रायपुर में निः शुल्क राष्ट्रीय सामुहिक विधवा पुनर्विवाह का आयोजन, कर सकते हैं पंजीयन

अमरजीत ने कहा रिपेयरिंग के नाम से घंटो बिजली बंद करने के पीछे करोड़ो का भ्र्ष्टाचार छुपा है।

बिजली बंद रहने से लाखों यूनिट बिजली बच जाती है उसका कोई हिसाब किताब नही होता।

http://विधायक डा. चोपड़ा ने कहा शासन के नियंत्रण से निकल चुका है प्रशासन, सचिव को लिखा पत्र

यही मुख्य वजह है कि थोड़ा सा पानी गिरा या हवा चलती है तो लाइट बन्द कर दी जाती है।

और भ्र्ष्टाचार का खेल चालू हो जाता है जिसकी हिस्सेदारी में मंत्री से लेकर संतरी तक सब शामिल रहते है।

http://फोटो स्टोरी: आस्था संस्था ने स्कूूल बालक बालिकाओं कोे दिए पाठ्य सामग्री और कपड़े

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button