भयानक रूप ले रहा चक्रवाती तुफान ‘यास’, ओडिशा के कई क्षेत्रों में तेज बारिश

भुनेश्वर। पश्चिम बंगाल और उत्तरी Odisha के तटीय इलाकों पर चक्रवाती तूफान ‘यास’ का भयानक रूप सामने आ रहा है। मौसम विभाग (IMD) ने 24 घंटों के भीतर चक्रवात के गंभीर तूफान में तब्दील होने की आशंका जताई है.

खबर हाइलाइट्स

  • बंगाल- Odisha के तटीय क्षेत्रों में चक्रवात यास का अलर्ट
  • राहत-बचाव के लिए तटीय क्षेत्रों में सेना-नौसेना तैनात
  • भारतीय रेलवे ने संभावित प्रभावित इलाकों की ट्रेनें की रद्द

पश्चिम बंगाल और उत्तरी Odisha के तटीय इलाकों पर चक्रवाती तूफान ‘यास’ का खतरा मंडरा रहा है. मौसम विभाग (IMD) ने 24 घंटों के भीतर चक्रवात के गंभीर तूफान में तब्दील होने की आशंका जताई है. मौसम विभाग के मुताबिक चक्रवाती तूफान ‘यास’ (Cyclone Yaas) के चलते आज (मंगलवार) ओडिशा और पश्चिम बंगाल के तटीय इलाकों में तेज हवाओं के साथ भारी बारिश होने के आसार हैं.

मौसम विभाग ने चेतावनी दी है कि चक्रवात के कारण तटीय इलाकों में 2-4 मीटर ऊंची लहरें उठ सकती हैं. मौसम विभाग के अनुसार भीषण तूफान के दौरान 155 से 165 किलोमीटर प्रतिघंटा की रफ्तार से हवा चलने की उम्मीद है. जो 185 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार तक पहुंच सकती है. मौसम वैज्ञानिकों के मुताबिक यास तूफान (Yaas Cyclone) बुधवार (26 मई) शाम तक ओडिशा के पारादीप और सागर आइलैंड्स के बीच लैंडफॉल कर सकता है.

चक्रवाती तूफान यास से निपटने के लिए पश्चिम बंगाल और ओडिशा में राष्ट्रीय आपदा मोचन बल (एनडीआरएफ) की टीमें तैनात की गई हैं.  ओडिशा के भद्रक, केंद्रपाड़ा, जाजपुर, जगतसिंहपुर और मयूरभंज इलाके तूफान से सबसे ज्यादा प्रभावित हो सकते हैं. जबकि पश्चिम बंगाल के मेदिनीपुर, दक्षिण 24 परगना, हावड़ा, हुगली और उत्तर 24 परगना में असर देखा जाएगा. मौसम विभाग के मुताबिक यास तूफान 26 मई को बंगाल और ओडिशा के तट से टकरा सकता है. तूफान की आहट के बाद राज्य और केंद्र सरकार की एजेंसियां अलर्ट पर हैं.

इन राशि के जातकों के लिए बेहद खास साबित होने वाला है समय, पढ़ें राशिफल

तटीय क्षेत्रों में बारिश का सिलसिला

चक्रवात यास के आने से पहले एनडीआरएफ ने पूर्वी मेदिनीपुर जिले के दीघा इलाके को खाली कराया है. साइक्लोन यास की आहट से पहले ही एंजेसियों ने मोर्चा संभाल लिया है. एनडीआरएफ की राहत एवं बचाव टीम ने लाउडस्पीकर के जरिए लोगों से सुरक्षित स्थानों पर जाने का आग्रह किया.

इन राज्यों में भी बारिश की संभावना

आंध्र प्रदेश, पुडुचेरी और तमिलनाडु के तटों पर भी यास तूफान का असर दिखेगा. इस तूफान की वजह से झारखंड, छत्तीसगढ़, बिहार के साथ-साथ अंडमान और निकोबार द्वीप समूह में भारी बारिश हो सकती है. मौसम विभाग के अनुसार 26 मई को संथाल इलाके को छोड़कर झारखंड के लगभग 16 जिलों में भारी बारिश की चेतवानी है. इस दौरान 90 किलोमीटर प्रति घंटा की रफ्तार से हवा के भी चलाने की संभावना है.

तूफान के अलर्ट के बाद रेलवे ने रद्द की कई ट्रेनें

मौसम विभाग के तूफानी अलर्ट के बाद भारतीय रेलवे (Indian Railways) ने नई दिल्ली से पुरी और भुवनेश्वर जाने वाली कई ट्रेनों को रद्द कर दिया है. इनमें हावड़ा-यशवंतपुर एक्सप्रेस समेत कई ट्रेन शामिल हैं. वहीं, दक्षिण पूर्व रेलवे ने मैसूरु, हावड़ा, यशवंतपुर, गुवाहाटी, अगरतला, पुरी, एर्नाकुलम और पुणे के बीच चलने वाली ट्रेनों को कैंसिल करने की घोषणा की है.अधिक जानकारी के लिए यहां क्लिक करें.

मछुआरों को समंदर से दूर रहने की सलाह

तूफान की चेतावनी जारी करते हुए मौसम विभाग ने मछुआरों की भी सतर्क किया है. चक्रवाती तूफान यास से प्रभावित होने वाली सभी राज्य हाई अलर्ट हैं. समुद्र के तट के पास से लोगों को हटाया गया है. मछुआरों को समंदर से दूर रहने की हिदायत दी गई है. इसके साथ ही राहत एंव बचाव कार्य के लिए NDRF ने मोर्चा संभाल लिया है.