दर्द UP: पापा के शव को कार की छत पर बांधकर ले गया श्मशान, भावुक हुए लोग

यूपी। आगरा कोविड का कहर इस तरह बढ़ता जा रहा है कि रोज ही दिल को झकझोर देने वाली खबरें सामने आ रही हैं. लोगों को अपनों का अंतिम संस्कार करने की जगह नहीं मिल रही. 6-7 घंटे लाइन में खड़े होने के बाद शवों को मुखाग्नि दी जा रही है. इतना ही नहीं, इस संक्रमण के बीच शव को मरघट तक ले जाने का साधन तक नहीं मिल रहा है. ऐसी ही एक तस्वीर UP यूपी के आगरा से देखने को मिलीहै, जिसे देख लोगों की आंखें नम हो गईं.

CAR की छत पर बांधकर ले गया पापा का शव

मामला जयपुर हाउस का है. आगरा में एंबुलेंस की कमी की वजह से बीते शनिवार बेटे मोहित को समझ नहीं आया कि पापा के शव को श्मशान तक कैसे ले जाएं. बहुत कोशिशों और इंतजार के बाद भी जब एंबुलेंस का इंतजाम नहीं हुआ तो मोहित को अपने पिता का शव गाड़ी की छत पर बांधना पड़ा, ताकि मोक्षधाम ले जाकर दाह संस्कार किया जा सके. यह नजारा ही कुछ ऐसा था कि देखकर श्मशान में मौजूद लोगों की आंखें भर आईं. घंटों लाइन में लगे रहने के बाद जब समय आया तो, बेटे ने पिता के शव को कार से नीचे उतारा और फिर मुखाग्नि दी.

साप्ताहिक राशिफल: 26 अप्रैल से 3 मई तक इन राशियों के लिए ये सप्ताह रहेगा खास, जानिए किसे होगा धन लाभ

लगातार जल रहे श्मशान पर शव

जानकारी के अनुसार, आगरा के ताजगंज श्मशान में 20 घंटे लगातार चिमनियां चलती जा रही हैं. रोजाना यहां कम से कम 50 शव अंतिम संस्कार के लिए आते हैं. हालत ये हो गई कि शाम तक दाह संस्कार के लिए 6 घंटे की वेटिंग हो हो जाती है.