ग्रहों की युति मेष, मिथुन, कन्या धनु, मकर और तुला को सफल होने ऐसे करें निदान

0
62
webmorcha.com
मेष, मिथुन, कन्या धनु, मकर और तुला को सफल होने ऐसे करें निदान

बुद्धि के कारक बुध ग्रह 22 सितंबर 2021 से राशि परिवर्तन किया है। बुध अपनी राशि कन्या से निकलकर तुला राशि में गोचर किए हैं। वह यहां 2 अक्टूबर तक विराजमान रहेंगे। तुला राशि में शुक्र पहले से गोचर कर रहे हैं। ऐसे में दो ग्रहों की युति बन रही है। बुध के राशि परिवर्तन से मेष, मिथुन, कन्या, तुला, धनु और मकर राशियों के जातकों बेहतर अवसर दे रहा है। आइए जानते हैं बुध ग्रह को अपने जीवन और प्रबल बनाने और कामयाबी की ओर लेकर जाएगा।

वैज्ञानिकों के अनुसार : सूर्य के सबसे निकटतम ग्रह है बुध। वैज्ञानिकों का मत हैं कि आकाश मंडल में असंख्य तारों व ग्रहों की तरह ही बुध भी एक ग्रह है जो सूर्य के अति निकट है और इसकी स्थिति ईशान कोण में बताई जाती है।

मेष राशिफल

बुध का गोचर मेष राशि के सातवां स्थान में हो रहा है। इस दौरान कारोबार करने वाले जातकों को बहुत ही बेहतरीन लाभ मिलेगा। टेक्निकल जॉब से जुड़े लोगों को करियर में खुबसूरत मौका मिलेगा। इस दौरान नई जिम्मेदारियां भी आपको मिल सकता है।

सकारात्मक विचार लाएं :सुबह उठकर वर्तमान पितृ पक्ष में रोजाना सूर्य को अर्ध्य दें। नाकारात्मक विचार को अपने उपर हावी न होने दें। अच्छें नौकरी के योग बने हैं, प्रयास को पाने निराशा को हावी न होने दे। फलादेश

वृष राशिफल

प्रेम-प्रसंग में अनुकूलता रहेगी। परिवार के किसी सदस्य के स्वास्थ्य की चिंता रहेगी। बेवजह कहासुनी हो सकती है। कानूनी अड़चन दूर होगी। व्यापार में वृद्धि होगी। नौकरी में सहकर्मियों का साथ मिलेगा। निवेश शुभ रहेगा। प्रसन्नता रहेगी। लेन-देन में जल्दबाजी न करें।

इस तरह स्मरण करें: अभी पितृ पक्ष चल रहा है। श्राद्ध पक्ष के ये 16 दिन विशेष मंगलकारी माने गए हैं। इन दिनों में सायंकाल के समय पितृ देवता की फोटो के समक्ष तेल का दीया जलाकर पितृ का स्मरण करें। फलादेश

मिथुन राशिफल

इस राशि में बुध का गोचर पांचवा भाव में हो रहा है। इस दौरान नौकरी पेशा जातकों से अधिकारी खुश रहेंगे। परिवार के साथ कहीं घूमने का प्लान बन सकता है। कहीं से अतिरिक्त इनकम कमाने का मौका मिलेगा। ऊर्जा स्तर और उत्साह में वृद्धि होगी।

मनोबल को बढाएं: अपने पाने की इच्छा का सकारात्मक रखें। मुकाम आपके सामने है बस पाने की इच्छा को एकाग्र रखें। वर्तमान में इस मंत्र का जाप करें…उदिताम् अवर उत्परास उन्मध्यमाः पितरः सोम्यासः। असुम् यऽ ईयुर-वृका ॠतज्ञास्ते नो ऽवन्तु पितरो हवेषु॥1॥  फलादेश

कर्क राशिफल

शत्रु हानि पहुंचा सकते हैं। दु:खद समाचार मिल सकता है। व्यर्थ भागदौड़ रहेगी। लाभ के अवसर हाथ से निकलेंगे। बेवजह कहासुनी हो सकती है। पुराना रोग उभर सकता है। जोखिम व जमानत के कार्य टालें। व्यापार ठीक चलेगा। आय में निश्चितता रहेगी। प्रयास अधिक करना पड़ेंगे। धैर्य रखें।

इस बात को अपनाएं: उचित बातें – सफाई, शांत चित्त, क्रोध न करें और धैर्य से पूजन-पाठ करें। हड़बड़ी व जल्दबाजी नहीं करें। फलादेश

सिंह राशिफल

धर्म-कर्म में रुचि रहेगी। कोर्ट व कचहरी के काम मनोनुकूल रहेंगे। लाभ के अवसर हाथ आएंगे। कुबुद्धि हावी रहेगी। चिंता तथा तनाव रहेंगे। मित्रों से संबंध सुधरेंगे। व्यावसायिक यात्रा सफल रहेगी। विरोधी सक्रिय रहेंगे। स्वास्थ्य का पाया कमजोर रह सकता है।

मनोबल को बढाएं

अपने पाने की इच्छा का सकारात्मक रखें। मुकाम आपके सामने है बस पाने की इच्छा को एकाग्र रखें। वर्तमान में इस मंत्र का जाप करें… उदिताम् अवर उत्परास उन्मध्यमाः पितरः सोम्यासः। असुम् यऽ ईयुर-वृका ॠतज्ञास्ते नो ऽवन्तु पितरो हवेषु॥1॥ फलादेश

कन्या राशिफल

शत्रु पस्त होंगे। सुख के साधन जुटेंगे। सामाजिक प्रतिष्ठा में वृद्धि होगी। पराक्रम बढ़ेगा। लंब समय से रुके कार्य सहज रूप से पूर्ण होंगे। कार्य की प्रशंसा होगी। शेयर मार्केट में सफलता मिलेगी। व्यापार-व्यवसाय में वृद्धि होगी। नौकरी में अधिकारी प्रसन्न रहेंगे। घर-बाहर प्रसन्नता रहेगी। शुभ समय।

इस धार्मिक नीति को अपनाएं: शराब-नॉनवेज, लहसुन-प्‍याज, लौकी, खीरा, सरसों का साग और जीरा नहीं खाना चाहिए। पितृ पक्ष में अपने पूर्वजों के प्रति सम्मान प्रदर्शित किया जाता है। इस समय सादा जीवन जीना चाहिए और कोई भी शुभ काम नहीं करना चाहिए। फलादेश

Chanakya Niti : इन चार शख्स के सामने कभी भी धन की बातें न करें… संकट में डाल सकता है आपको…

तुला राशिफल

तुला राशिवालों का कोई रुका हुआ काम पूरा हो सकता है। व्यापारियों को अच्छा मुनाफा मिलेगा। लोग आपकी तारीफ करेंगे। आर्थिक लाभ होगा और अपनी मेहनत से कार्यक्षेत्र में जीत दर्ज करेंगे।

इस तरह स्मरण करें: अभी पितृ पक्ष चल रहा है। श्राद्ध पक्ष के ये 16 दिन विशेष मंगलकारी माने गए हैं। इन दिनों में सायंकाल के समय पितृ देवता की फोटो के समक्ष तेल का दीया जलाकर पितृ का स्मरण करें फलादेश

वृश्चिक राशिफल

स्वास्थ्य का पाया कमजोर रहेगा। किसी अप‍रिचित पर अतिविश्वास न करें। विवाद से क्लेश होगा। दूसरों के उकसाने में न आएं। अप्रत्याशित खर्च सामने आएंगे। चिंता तथा तनाव रहेंगे। व्यवसाय की गति धीमी रहेगी। आय में निश्चितता रहेगी। कोई बड़ी समस्या आ सकती है। धैर्य रखें।

मनोबल को बढाएं

अपने पाने की इच्छा का सकारात्मक रखें। मुकाम आपके सामने है बस पाने की इच्छा को एकाग्र रखें। वर्तमान में इस मंत्र का जाप करें… उदिताम् अवर उत्परास उन्मध्यमाः पितरः सोम्यासः। असुम् यऽ ईयुर-वृका ॠतज्ञास्ते नो ऽवन्तु पितरो हवेषु॥1॥ फलादेश

धनु राशिफल

बुध का गोचर धनु राशि के एकादश भाव में हो रहा है। कोई अच्छी डील मिलने संभावना है। प्रमोशन के योग बनेंगे। कुंवारों को शादी का प्रस्ताव मिलेगा।

इस बात को अपनाएं: उचित बातें – सफाई, शांत चित्त, क्रोध न करें और धैर्य से पूजन-पाठ करें। हड़बड़ी व जल्दबाजी नहीं करें।।  फलादेश

मकर राशिफल

मकर राशि के जातकों को करियर में नए अवसर प्राप्त होंगे। विदेश में शिक्षा और नौकरी करने की इच्छा रखने वालों के लिए अच्छा समय है। परिवार से आर्थिक सहयोग मिलेगा।

इस धार्मिक नीति को अपनाएं: शराब-नॉनवेज, लहसुन-प्‍याज, लौकी, खीरा, सरसों का साग और जीरा नहीं खाना चाहिए। पितृ पक्ष में अपने पूर्वजों के प्रति सम्मान प्रदर्शित किया जाता है। इस समय सादा जीवन जीना चाहिए और कोई भी शुभ काम नहीं करना चाहिए।  फलादेश

कुंभ राशिफल

शारीरिक कष्ट संभव है तथा तनाव रहेंगे। सुख के साधन प्राप्त होंगे। व्यावसायिक यात्रा सफल रहेगी। बकाया वसूली के प्रयास सफल रहेंगे। लाभ के अवसर हाथ आएंगे। लंबे समय से रुके कार्यों में गति आएगी। व्यवसाय ठीक चलेगा। मित्रों का सहयोग मिलेगा। प्रसन्नता रहेगी

मनोबल को बढाएं

अपने पाने की इच्छा का सकारात्मक रखें। मुकाम आपके सामने है बस पाने की इच्छा को एकाग्र रखें। वर्तमान में इस मंत्र का जाप करें… उदिताम् अवर उत्परास उन्मध्यमाः पितरः सोम्यासः। असुम् यऽ ईयुर-वृका ॠतज्ञास्ते नो ऽवन्तु पितरो हवेषु॥1॥ फलादेश

मीन राशिफल

आराम तथा मनोरंजन के साधन उपलब्ध होंगे। यश बढ़ेगा। व्यापार वृद्धि होगी। नई योजना बनेगी जिसका तत्काल लाभ नहीं मिलेगा। कार्यप्रणाली में सुधार होगा। विरोधी सक्रिय रहेंगे। नौकरी में उच्चाधिकारी प्रसन्न रहेंगे। प्रमाद न करें। चोट व रोग से परेशानी संभव है।

इस बात को अपनाएं: उचित बातें – सफाई, शांत चित्त, क्रोध न करें और धैर्य से पूजन-पाठ करें। हड़बड़ी व जल्दबाजी नहीं करें। फलादेश

https://webmorcha.com/

https://webmorcha.com/category/my-village-my-city/

9617341438, 7879592500,  7804033123