ADG जीपी सिंह का 10 करोड़ की संपत्ति का खुलासा, 2 किलो सोने की पट्‌टी और 16 लाख रुपए जब्त

रायपुर। ADG जीपी सिंह के यहां गुरुवार की सुबह से चल रही छापेमारी रानिवार को देर शाम खत्म हो गया है। टीम ने इस अधिकारी के यहां से 10 करोड़ रुपए की चल-अचल संपत्तियों का खुलासा किया है। टीम ने 2 किलो सोने की पट्‌टी और 16 लाख रुपए नकद भी जब्त किए हैं। हालांकि संपत्ति की गिनती अभी भी जारी है।

ACB की ओर से जो जानकारी दी गई है उसमें एक जुलाई की सुबह छह बजे से ADG जीपी सिंह के नेशनल हाईवे कॉलोनी स्थित सरकारी निवास के साथ उनके सहयोगियों प्रीतपाल चण्डोक, मणि भूषण और CA राजेश बाफना के रायपुर, राजनांदगांव व Odisha के बड़बील स्थित ग्लोबल एसोसिएट्स कंपनी के ठिकानों पर छापे की कार्रवाई शुरू हुई। SBI की सेजबहार शाखा के प्रबंधक और GP सिंह के मित्र मणिभूषण के SBI अपार्टमेंट स्थित घर की तलाशी में GP सिंह से जुड़े बैंक दस्तावेज के अलावा एक-एक किलोग्राम Gold की दो पटि्टयां मिलीं। इसकी कीमत करीब एक करोड़ रुपए  बताई जा रही है।

कई पॉलिसी

SBI के मैनेजर मणिभूषण ने पूछताछ में बताया, Gold की यह पट्‌टी कुछ दिन पहले ही GP सिंह ने कुछ समय तक संभालकर रखने को दी थी। प्रीतपाल सिंह चंडोक के घर की तलाशी के दौरान उनके बेडरूम से 13 लाख रुपए नकद ज्बत हुए। पूछताछ में पता चला कि यह रकम GP सिंह की है। 30 जून को आनन-फानन में इसे यहां रखवाया गया था। प्रीतपाल सिंह ने यह भी बताया, GP सिंह के पिता परमजीत सिंह ने कुछ वर्षों पूर्व उनको अपनी संपत्तियों के क्रय-विक्रय और रखरखाव के लिए पावर ऑफ अटॉर्नी भी दिया गया था।

अभी वह कहां है यह प्रीतपाल ने नहीं बताया। GP सिंह के एक और सहयोगी चार्टर्ड एकाउंटेंट राजेश बाफना के राजनांदगांव स्थित ठिकानों पर तीन हजार से अधिक फाइलों की तलाश के बाद GP सिंह, उनकी पत्नी और बेटे के नाम पर बीमा संबंधी 79 दस्तावेज मिले हैं। इसमें जीपी सिंह के नाम पर 24, उनकी पत्नी के नाम पर 23 और बेटे के नाम पर 32 पॉलिसी हैं। तीन लाख रुपए नकद और 2 लाख रुपए मूल्य का आभूषण GP  सिंह के घर से भी मिला है।

खाते में भरपूर रकम

SBI के अनुसार, छापे में GP सिंह परिवार के पास एक से अधिक एचयूएफ खाते मिले हैं। इनमें 64 लाख रुपए जमा होने की जानकारी मिली है। इस परिवार के सदस्यों के नाम पर अलग-अलग बैंकों में 17 खाते हैं। इनमें 60 लाख रुपए से अधिक जमा हैं। एक से अधिक PPF एकाउंट में भी 10 लाख रुपए की बात सामने आई है। डाकघर में 29 सावधि जमा खातों में 20 लाख रुपए से अधिक राशि जमा है। टीम का कहना है कि इन खातों की संख्या बढ़ भी सकती है।

ADG के बंगले से निकल रहा जादू-टोने की बात… डायरी में लिखा है, थाईलैंड से 20 पैर वाला कछुआ मंगवा चुका है बलि देने के बाद कुछ भी कर सकेगा

कई कंपनियों में निवेश

बताया गया, GP सिंह और परिवार के सदस्यों ने रियल एस्टेट और माइनिंग से जुड़ी बहुराज्यीय कंपनियों से एक करोड़ से अधिक रकम अपने खातों में जमा कराया है। GP सिंह के खातों में रुपए जमा कराने वाली कंपनियों में मार्श कॉलोनाइजर, मार्श रीएटेक इंडिया प्रा.लि., ग्लोबल एसोसिएट्स, आरव सॉल्युशन, पारशिवर मैनेजमेंट कंसल्टेंट, फॉर्चुन मेटल लि. और क्रेस्ट स्टील एंड पावर कंपनी का नाम सामने आया है।

टीम को GP सिंह के पिता द्वारा सोने के गहने बेचकर लाखों रुपए पाने संबंधी कई दस्तावेज मिले हैं। एसीबी को आशंका है कि यह काले धन को सफेद करने का खेल हो सकता है। GP सिंह और परिवार की छत्तीसगढ़ और दूसरे प्रदेशों में भूखंड, मकान और फ्लैट हैं। जीपी सिंह के नाम पर दो भूखंड और एक फ्लैट, पत्नी के नाम पर दो मकान, माता के नाम पर पांच भूखंड और एक मकान, पिता के नाम पर 10 भूखंड और 2 फ्लैट समेत ऐसी कुल 23 संपत्तियों का पता चला है।

3 करोड़ से अधिक का शेयरों में निवेश

अभी तक की जानकारी के अनुसार, GP सिंह और उनके परिजनों के नाम पर 69 अवसरों पर शेयर और म्यूचुअल फंड में निवेश की बात सामने आई है। इसमें तीन करोड़ रुपए से अधिक का निवेश है। इस परिवार के नाम पर हाइवा, JCB और कांक्रीट मिक्स्चर मशीन भी खरीदी गई है। इसमें करीब 65 लाख रुपए निवेश हुए हैं।

भ्रष्टचार: ADG सिंह का बेशुमार दौलत: संपत्ति, वाहनों, बैंक खाता, बीमा पॉलिसियों की तादाद देखकर हैरान रह गई टीम