चिंतित करता शराब का फंदा धीरे धीरे नही एकदम से बन्द करो शराब :-शिवसेना सोनु दीवाना

अभनपुर। छत्तीसगढ़ शिवसेना के शिवसैनिक रविकांत तारक (सोनु दिवाना) ने अपने रोकठोक तरीके से फिर एक बार राज्य सरकार पर प्रेस विज्ञप्ति के माध्यम से हमला बोला है  प्रेस के माध्यम से रोकठोक अंदाज में  कहा कि शराबबंदी नही होने के कारण चिंतित करता है शराब का फंदा धीरे धीरे नही एकदम से बन्द करो शराब दुकान शिवसैनिक रविकांत तारक (सोनु दिवाना) ने कहा कि छत्तीसगढ़ प्रदेश में विगत विधानसभा चुनाव के समय गंगाजल की कसम खाकर कांग्रेस पार्टी ने छत्तीसगढ़ राज्य में शराबबंदी का वादा किया था। कांग्रेस के वायदा अनुसार प्रदेश की जनता ने छत्तीसगढ़ में शराबबंदी करने हेतु कांग्रेस को प्रदेश की बागडोर सौंपी। किंतु प्रदेश में सत्ता मिलते ही कांग्रेस ने अपने वादे से मुकरते हुए

http://गांधीगिरी: महासमुंद भ्रष्टाचार के खिलाफ अपने ही विभाग के अफसर अनशन पर बैठे

छत्तीसगढ़ में शराब के कारोबार को दिन दूनी और रात चौगुनी के रूप में विस्तार दिया जिससे पूरे प्रदेश में वैध, अवैध शराब की दुकानों एवं शराबियों की संख्या में निरंतर इजाफा हो रहा है। पिछली भाजपा सरकार को शराब के मुद्दे पर घेरने वाली कांग्रेस आज प्रदेश में स्वयं शराब के फायदे गिना रही है। क्योंकि छत्तीसगढ़ में शराब के वैध, अवैध धंधे से होने वाले बंदरबांट में नीचे से लेकर ऊपर तक सब का हिस्सा बंधा हुआ है। रविकांत तारक (सोनु दिवाना) ने बताया कि 15 सालों तक शराबबंदी मांगने वाले शराब बेच रहे हैं और 15 सालों तक शराब बेचने वाले शराबबंदी मांग रहे आगे शिवसैनिक रविकांत तारक (सोनु दिवाना) ने कहा कि अभी वर्तमान में पूरे देश भर में कोरोना महामारी की रोकथाम हेतु लॉकडाउन लगा हुआ है,

एवं सभी प्रकार के व्यवसाय, दुकाने बंद है सरकार कोरोना के रोकथाम हेतु पूरे देश भर में कोरोना के टीके लगवा रही है। परंतु छत्तीसगढ़ में कोरोना के टीको के अभाव में अव्यवस्था फैली है ।पर प्रदेश की सरकार  इन सब पर ध्यान देना छोड़। प्रदेश के शराबियों हेतु ऑनलाइन शराब बिक्री चालू कर दी है। एवं शराबियों हेतु शराब की व्यवस्था कर रही है जो कि निंदनीय है ।और शिवसेना इसका विरोध करती है और कहती है कि पूरे देश की सरकार है अभी कोरोना से अपने नागरिकों की रक्षा कर रही है।और छत्तीसगढ़ की सरकार कोरोना महामारी के आपदा को अवसर के रूप में परिवर्तित कर छत्तीसगढ़ में शराबियों को शराब बेच कर पैसा कमाने में लगी है।

जबकि छत्तीसगढ़ सरकार अगर अपना शराबबंदी का वादा निभाना चाहती है। तो उसके लिए यह सबसे अच्छा समय होगा क्योंकि विगत 1 माह से शराब की दुकानें बंद है। और प्रदेश की जनता अब शराब के नशे को भूल चुकी है । शिवसेना छत्तीसगढ़ सरकार से मांग करती है कि अपने वादे पर कायम रहते हुए प्रदेश की सरकार छत्तीसगढ़ राज्य में पूर्ण शराब बंदी लागू करें। एवं अभी वर्तमान में छत्तीसगढ़ की जनता को शराब को छोड़कर कोरोना के टीके उपलब्ध कराएं।

http://टीके पर भरोसे की कहानी-सपरिवार पॉजिटिव हुए, बावजूद इसके वृद्ध पाण्डेय दंपत्ति ने वैक्सीन पर भरोसे व मन के हौसलों से दी कोरोना को मात

हालांकि नशा एक वैश्विक समस्या है लेकिन हमारे राज्य मे युवाओं में इसकी बढ़ती प्रवृत्ति चिंताजनक है हमारे पूर्वज शराब से घृणा करते थे लेकिन युवा पीढ़ी चंगुल में फंस रहे हैं यदि हम इसको अभी रोका न गया तो 20से25साल बाद हमारा समाज तबाह हो जाएगा छत्तीसगढ़ शिवसेना के शिवसैनिक रविकांत तारक (सोनु दिवाना) ने युवासाथी युवा पीढ़ी का चिंता करते हुवे कहा कि यदि राज्य सरकार छत्तीसगढ़ में शराबबंदी नही की गई तो  अगले 25 साल समाज तबाह हो जाएगा और कहा कि धीरे धीरे नही अभी एकदम से शराबबंदी किया जाना बहुत जरूरी है।

हमसे जुड़िए

https://twitter.com/home             

https://www.facebook.com/?ref=tn_tnmn

https://www.facebook.com/webmorcha/?ref=bookmarks

https://webmorcha.com/

https://webmorcha.com/category/my-village-my-city/

9617341438, 7879592500,  7804033123