महासमुन्दमेरा गांव मेरा शहर

गांवों में सूखने लगे तालाब, कोडार बांध से पानी छोड़ने की मांग

तालाबों में पानी कम होने से खाज-खुजली की शिकायत

महासमुंद।

  • विधायक डॉ. विमल चोपड़ा ने क्षेत्र के विभिन्न गांवों का दौरा किया।
  • इस दौरान उन्होंने देखा कि गांवों में निस्तारी के लिए पानी की किल्लत है।
  • ग्रामीणजन परेशान हो रहे है, अनेक तालाबों का पानी कम होने की वजह से खाज-खुजली जैसी समस्या आ रही है।
  • गर्मी के बढ़ते प्रकोप से तालाब तेजी से सूख रहे हैं। वहीं लोगों की परेशानी बढ़ती जा रही है।
  • लगातार गांवों से मांग आ रही है कि कोड़ार बांध का पानी छोड़ जाए।
  • इस बात को लेकर रायपुर में विधानसभा सत्र के दौरान ही राज्य स्तरीय जल उपयोगिता समिति की बैठक कृषि एवं सिंचाई मंत्री बृजमोहन अग्रवाल की अध्यक्षता में हुई थी।
  • बैठक में यह निर्णय लिया गया था कि गर्मी को देखते हुए मार्च में बांधो से पानी छोड़ा जाएगा।
    लेकिन अप्रैल माह भी बीता जा रहा है और पानी नहीं छोड़ने से गंभीर समस्याएं सामने आ रही है।
  • विधायक डॉ. चोपड़ा ने कहा कि गर्मी को देखते हुए व निस्तारी में होने वाली समस्याओं को ध्यान देते हुए तत्काल पानी छोड़ने की जरूरत है।
  • पानी की बर्बादी न हो   http://यहां पढ़े…

  • विधायक चोपड़ा ने जनपद अध्यक्ष धरमदास महिलांग द्वारा कोडार बांध से पानी छोड़ने की मांग को समर्थन देने हुए कहा कि यह उचित है एवं लोगों की परेशानियों को देखते हुए उन्होंने ये मांग की है।
  • कोडार बांध से नहरों के माध्यम से तालाब को भरा जाता है, लेकिन नहरों को किसी प्रकार से व्यवस्थित नही करने के कारण पानी खेते से होते हुए तालाब तक पहुंच पाता।
  • जिसके कारण तालाब में भरने वाले पानी से ज्यादा खेते में फैल कर पानी बर्बाद हो जाता है
  • इसकी उचित व्यवस्था पाइप लाइन या नहर सुधार के रूप में किया जाए।
  • ताकि जो पानी व्यर्थ बहकर खराब होता है व समुचित रूप से उपयोग में लाई जा सकें।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button