एक हजार में तय होता है कि मुख्यमंत्री के बैठक में शामिल होना है या नहीं!

महासमुंद। मंगलवार को छत्तीसगढ़ मुख्यमंत्री डा. रमन के महासमुंद प्रवास से वापस लौटने के बाद भाजपा पार्टी कार्यकर्ताओं में गुटबाजी देखने को मिला। दरअसल मुख्यमंत्री पहली बार महासमुंद भाजपा कार्यालय में कार्यकर्ताओं का बैठक रहे थे, लेकिन कई कार्यकर्ता ऐसे हैं जो बैठक में शामिल होना चाहते थे, लेकिन सक्रियता सदस्य की एक हजार रुपए न देने के कारण बैठक से उन्हें वंचित कर दिया गया।
मुख्यमंत्री के बैठक से निकलने के बाद भाजपा कार्यालय में कार्यकर्ताओं का झगड़ा आम पब्लिक के बीच पहुंच गया। यहां पूर्व जिला महामंत्री युवा मेार्चा के लाल जी विजय सिंह देव ने एक आवेदन लेकर महासमुंद जिला अध्यक्ष इंद्रजीत गोल्डी के उपर विफर गए। यहां बात को सम्हाने के बजाए खुद जिला अध्यक्ष ने बांह उठाते हुए कार्यकर्ता से उलझ गया।
कार्यकर्ताओं ने लगाया आरोप
महासमुंद भाजपा अघ्यक्ष पर गलत बोलने और पक्षपात करने का आरोप लगाते हुए कई कार्यकर्ताओं ने विरोध किया। पूर्व जिला महामंत्री ने सार्वजनिक स्थान पर यहां तक कह या कि अफसरों को चंदा चकोरी हम नहीं करते कौन वसूल रहा है सब जानते हैं।
कौन है लाल विजय
0 दिलीप सिंह जुदेव से परिवारिक संबंध।
0 वर्तमान में स्वच्छता समिति का जिला संयोजक
0 भाजपा पार्टी का निष्ठावान कार्यकर्ता
इसलिए वंचित हो गया विजय
0 दरअसल भाजपा महासमुद में दो गुट है
होगी बगावत
0 बुधवार को मामले को लेकर एक स्थानीय दबंग नेता के घर में बैठक हुई।
0 आने वाले दिनों में अध्यक्ष को नहीं हटाया गया तो होगी बगावत
0 कई कार्यकर्ता अध्यक्ष से हैं नाखुश
0 कार्यर्ताओं का कहना है कि अपने आस-पड़ोस के ही लोगों को लाभन्वित कर रहा है।

Leave a Comment

Kiara Advani पहुंचीं सूर्यगढ़ पैलेस Glowing Skin के लिए ट्राई करें Shraddha arya का स्किन रूटीन Anupamaa: जन्मदिन पार्टी में अनुपमा और अनुज हुए रोमांटिक, माया नहीं बल्कि असली मां की हुई एंट्री आपके जूते बताते हैं आपका स्वभाव! शनि का उदय, इन राशियों की होगी बल्ले-बल्ले