विशेषज्ञ ने कहा- इंडिया में महामारी की तीसरी लहर आना निश्चित, केंद्र ने प्रदेशों से बोलें- war room बनाएं, लगाएं night curfew पढ़िए स्टडी

केंद्र ने प्रदेशों से बोलें- war room बनाएं, लगाएं night curfew पढ़िए स्टडी

इंडिया में ओमिक्रॉन (omicron) के बढ़ते संक्रमण के बीच स्वास्थ्य विशेषज्ञों का कहना है कि कोविड की तीसरी लहर का आना निश्चित है। इसे रोकना मुश्किल है। लेकिन, इसे डरने की आवश्यकता नहीं है। विशेषज्ञों ने कहा कि 13 दिसंबर की तुलना में 19 दिसंबर को कई प्रदेशों में संक्रमण की रफ्तार बढ़ी है। इन प्रदेशों में बिहार, एमपी, महाराष्ट्र, उत्तराखंड, त्रिपुरा, तमिलनाडु, असम, Odisha, मिजोरम, अरुणाचल प्रदेश, पश्चिम बंगाल, मणिपुर और नागालैंड है।

केंद्र गर्वमेंट ने प्रदेशों के लिए चेतावनी जारी की है। केंद्र ने कहा है कि ओमिक्रॉन (omicron) कोविड के पुराने वैरिएंट डेल्टा के मुकाबले 3 गुणा तेजी से फैलता है। इसलिए जरूरी उपाय अपनाना शुरू कर दें। मंगलवार शाम प्रदेशों को लिखे गए पत्र में कहा गया है कि ओमिक्रॉन (omicron) से निपटने के लिए वॉर रूम एक्टिव कर देना चाहिए। ओमिक्रॉन (omicron) और डेल्टा दोनों वैरिएंट अब भी देशभर में मौजूद हैं। इसलिए लोकल और जिला लेवल पर अधिक दूरदर्शिता दिखाने और तत्काल कार्रवाई करने की आवश्यकता है।

धूम मचाने आ रहा Realme का ये फोन, बेहतरीन डिजाइन ने लोगों को किया फिदा, जानिए कब होगा लॉच

जानिए अब तक स्टडी

ओमिक्रॉन (omicron)  पर UK की नई स्टडी- ये स्टडी इंपीरियल कॉलेज लंदन के शोधकर्ताओं ने की है. इसमें ओमिक्रॉन (omicron) से  संक्रमित 11,329 लोगों की तुलना कोरोना के अन्य वैरिएंट से संक्रमित 200,000 लोगों से गई. स्टडी में कहा गया है, ‘इस बात के कोई साक्ष्य नहीं है कि डेल्टा की तुलना में ओमिक्रॉन कम गंभीर है.’ ये तुलना मरीजों के लक्षणों और अस्पताल में भर्ती हो रहे मरीजों की संख्या के आधार पर की गई है.

ओमिक्रॉन (omicron) पर वैक्सीन का असर- स्टडी के अनुसार, ओमिक्रॉन (omicron) के लक्षण वाले मरीजों पर UK में उपलब्ध वैक्सीन की दो डोज के बाद 0% से 20% और बूस्टर डोज के बाद 55% से 80% तक असर देखा गया है. रिपोर्ट में यह भी अनुमान लगाया गया है कि डेल्टा की तुलना में ओमिक्रॉन (omicron) से री-इंफेक्शन होने का खतरा 5.4 गुना अधिक है. हेल्थकेयर वर्कर्स के अनुसार SARS-CoV-2 के पहले वैरिएंट में 6 महीने में दूसरी बार संक्रमण होने से 85% तक सुरक्षा मिलती थी. शोधकर्ताओं का कहना है कि ‘ओमिक्रॉन(omicron)  से री-इंफेक्शन के खिलाफ सुरक्षा 19% तक कम हो गई है.

https://twitter.com/WebMorcha

https://www.facebook.com/webmorcha

https://www.instagram.com/webmorcha/

Back to top button