क्राइम

15 लाख लूट की झूठी रिपोर्ट, सरपंच और उसकी पत्नी सहित 4 गिरफ्तार

प्रभात महंती, महासमुंद.

ऐसे लिखवाया झूठी रिपोर्ट

  • लक्ष्मण प्रधान पिता चंद्रभूषण प्रधान उम्र 30 साल खरखरी थाना सिंघोड़ा ग्राम सरपंच खरखरी रिपोर्ट दर्ज कराया।
  • 23 अप्रैल को करीब 11:30 बजे ग्राम खरखरी से अपनी पत्नी पिंकी प्रधान, मां देवकी प्रधान ससुर सीताराम व बच्चों के साथ मारूती वेन से जाने की बात कही।
  • रिपोर्ट में बताया कि पतेरापाली नारायण साहू के पास बेचे हुये जमीन को छुड़ाने के लिए 15 लाख लेकर आए थे।
  • दोपहर 12:30 से 01:00 बजें के मध्य दो अज्ञात व्यक्ति चेहरे पर कपड़ा बांधे हुआ आए और उनके पत्नी के पास रखे हुए उक्त रकम को लूटकर ले गया।
  • इसके चिल्लाने पर नारायण साहू के परिवार एवं उसकी मां, ससुर घर से बाहर आए।
  • जिन्हे घटना के संबंध में बताकर सभी थाना सरायपाली आकर रिपोर्ट दर्ज कराए।

रिपोर्ट के बाद पुलिस महकमे में हड़कंप

  • थाना सरायपाली को क्षेत्र में दिन दहाड़े लूट की घटना घटित होने की सूचना प्राप्त होने पर सभी के कान खड़ हो गए।
    तत्काल वरिष्ठ अधिकारियों को अवगत कराया गया।
    घटना के बाद पुलिस अधीक्षक संतोष सिंह द्वारा जिलें के सभी पुलिस अफसरों सहित सरहदी थाना को अलर्ट कर दिया।
    घटना के बाद क्राईम ब्राचं एवं थाना सरायपाली टीम द्वारा तत्काल घटनास्थल पहुचकर घटना स्थल का निरीक्षण किया
    प्रार्थी से मिलकर घटना के संबंध में जानकारी लेकर प्रार्थी लक्ष्मण प्रधान, पत्नी पिंकी प्रधान, मां देवकी एवं ससुर सीताराम से पृथक पृथक पूछताछ किया गया

प्रार्थी की पृष्ठ भूमि खंगाला गया

पूछताछ करने पर उपरोक्त के कथनों में विरोधाभाषा उत्पन्न हुआ तथा जांच टीम द्वारा प्रार्थी लक्ष्मण प्रधान के व्यक्तिगत पृष्ठभूमि की भी जानकारी एकत्र की गई।
जिससें यह पता चला कि प्रार्थी लक्ष्मण प्रधान वर्ष 2014 में ग्राम पंचायत खरखरी पंचायत से सरपंच पद हेतु चुनाव लड़ा था।
  • चुनाव लड़ने के लिए रकम की आवश्यकता होने से ग्राम खरखरी के नारायण साहू (वर्तमान निवास पतेरापाली) के पास अपने करीब 3 एकड़ कृषि भूमि को करीब 8 लाख रूपए में बेचा है जो कर्ज में डुबा हुआ है
  • जांच टीम द्वारा प्रार्थी लक्ष्मण प्रधान एवं उनके परिजनों के कथनों में भिन्नता पाया गया।
    आरोपियों द्वारा घटना को अंजाम देने समय किसी हथियार व बल का प्रायोग किया गया न कोई हो हल्ला हुआ।
  • घटनास्थल को देखने से एैसा लग रहा था कि यह काल्पनिक है।
    जिससें पुलिस को संदेह प्रतीत हुआ। प्रार्थी लक्ष्मण प्रधान से पुनः हिकमत अमली से पूछताछ किया गया।
  • पुलिस पूछताछ पर अंततः टूट गया और लूट की मनगढ़न कहानी रचकर अपने साथियों के साथ झुठी लूट की योजना तैयार कर झुठी लूट को अंजाम देना बताया।
    यह भी बताया कि वर्ष 2014 में इनके द्वारा ग्राम खरखरी पंचायत के सरपंच पद हेतु चुनाव लड़ने पर
  • रूपए की आवश्यकता होने से ग्राम खरखरी के नारायण साहू के पास 3 एकड़ कृषि भूमि को 8 लाख रूपयें में बिक्री किया हुआ था।
  • उक्त जमीन को वापस करने हेतु नारायण साहू एवं लक्ष्मण प्रधान के बीच 15 लाख 20 हजार देने का सौदा हुआ था।
  • प्रार्थी द्वारा कर्ज में डुबे होने व उपरोक्त नगदी रकम स्वयं के पास नही होने से लूट करने का षड़यंत्र रचकर अपने साथी महेन्द्र भीम पिता लेखन भीम उम्र 45 वर्ष सा. जामदलखा थाना सिंघोड़ा जिला महासमुंद से सम्पर्क कर फर्जी लूट की योजना तैयार की गई।

ऐसे लूट की बनाई रणनीति

  • साथी महेन्द्र भीम द्वारा अपना मितान नवीन कुमार पिता शेष देव प्रधान उम्र 42 वर्ष सा0 सापलहर थाना जगदलपुर उड़िसा के माध्यम से दो व्यक्ति 1. चंदन साहू पिता देवंत साहू उम्र 19 वर्ष 2. हरिशचंद्र उर्फ व्यास पिता जनेक प्रधान उम्र 37वर्ष साकिनान सापलहर थाना
  • जगदलपुर जिला बरगढ़ उड़िसा को फर्जी लूट की योजना में शामिल कर आरोपी लक्ष्मण प्रधान द्वारा 10-15 दिन पूर्व दोनों लोगों को नारायण साहू के घर दिखाकर रेकी कराया गया एवं सुनियोजित योजना अनुरूप आरोपियों द्वारा 500-500 रूपए नोट के आकार का प्लाईवुड कांटकर प्लाईवुड के उपर एवं नीचे नगदी रकम 500-500 रूपयें का नोट चिपाकर 6 बंडल एवं 100 रूपयें नोट के आकार का प्लाईवुड कांटकर प्लाईवुड के उपर एवं नीचे नगदी रकम 100-100 रूपयें का नोट चिपाकर 4 बंडल कुल 10 बंडल को लाल रंग के कपड़े के थैले में भरकर रखा गया था।
  • घटना दिनांक 23.04.18 को लक्ष्मण प्रधान द्वारा एक किराये का मारूती वेन क्रमांक सीजी 06 जेड.बी/1989 में अपने पत्नी, मां, ससुर एवं बच्चों के साथ सरायपाली आयें जो जयस्तम्भ चौक के पास अपने ससुर सीताराम एवं मां देवकी व दो बच्चों को छोड़कर बस स्टैण्ड सरायपाली गए।

कई तरह से ब्यान को बदले

  • वहा पर नवीन प्रधान एवं चंदन साहू तथा हरिशचंद्र उर्फ व्यास से मिलकर घटना को अंजाम देने हेतु बताकर वापस जयस्तम्भ चैक आये। वहा से ससुर, मां एवं बच्चों को लेकर सभी पतेरापाली नारायण साहू के घर सामने पहुचे गाड़ी (मारूती वेन) का चालक गाड़ी खड़ीकर लघुशंका करने चला गया।
  • मारूती वेन से उतकर ससुर सीताराम, मां देवकी एवं बच्चें नारायण साहू के घर अंदर चले गये। आरोपी लक्ष्मण प्रधान गाड़ी से उतकर अपनी पत्नी पिंकी प्रधान का उतरने का इंतजार कर रख था कि इसी बीच आरोपी लक्ष्मण प्रधान द्वारा पूर्व में रचे षड़यंत्र के आधार पर एक मोटर सायकल से दो अज्ञात नकाबपोश चंदन साहू, हरिशचंद्र उर्फ व्यास आये और पिंकी प्रधान के हाथ में रखे बंडल को थैला सहित लेकर भाग गयें।

– घटना के तत्काल बाद आरोपी लक्ष्मण द्वारा अपने मोबाईल एवं पत्नी पिंकी के मोबाईल को स्वीच आफ कर छिपाकर रख देना बताया गया।
– आरोपी लक्ष्मण के निशानदेही पर आरोपी की पत्नी पिंकी प्रधान, सहयोगी नवीन कुमार प्रधान, महेन्द्रभीम, चंदन साहू, हरिशचंद्र साहू एवं लक्ष्मण प्रधान द्वारा षड़यंत्र रचकर झुठी लूट की घटना को अंजाम देने में सहयोग प्रदान करने एवं संलिप्ता पाये जाने से आरोपियों को गिरफ्तार किया गया। आरोपियों द्वारा षड़यंत्र रचकर झुठी लूट की रिपोर्ट किया गया था। जिसे पुलिस द्वारा लगातार पतासजी कर 24 घण्टे के अंदर झुठी लूट का पर्दाफाश किया गया।

  • थाना सरायपाली में आरोपियों के विरूद्ध अप0क्र0 127/18 धारा 392, 120बी भादवि0 के तहत कार्यवाही की गई। यह सम्पूर्ण कार्यवाही पुलिस अधीक्षक संतोष सिंह के निर्देशन में अति0 पुलिस अधीक्षक संजय ध्रुव एवं अनु.अधिकारी(पु) सरायपाली राजीव शर्मा के मार्गदर्शन में क्राईम ब्रांच प्रभारी सुभाष पवार, उनि0 योगेश सोनी, उनि0 लक्ष्मी साव, सउनि. नवधाराम खण्डेकर, टीकाराम सारथी एवं टीम द्वारा की गई।

विज्ञापन 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button