बाप रे : एमपी में बदमाशों ने खड़ा कर दिया फर्जी पुलिस स्टेशन, SP को नहीं लगी भनक

मध्यप्रदेश के ग्वालियर रोंगटे खड़ी कर देने वाली खबर सामने आई है। यहां बदमाशों ने लोगों से पैसे ऐंठने पुलिस अफसर बनकर फर्जी पुलिस स्टेशन (Firangi Police Station) खड़ा दिया। इस हैरान कर देने वाली खबर पर जब एसपी क्राइम पंकज पांडे (SP Crime Pankaj Pandey) से बात किया गया तो उन्होंने बताया कि, हमें अभी तक यह पता नहीं चल पाया है कि, उन्हें किसी अन्य उद्देश्य के लिए पुलिस द्वारा नियुक्त किया गया था या फर्जी तरीके से यह पुलिस स्टेशन चल रहा था। फिलहाल पूरे मामले की जांच चल रही है।.

यहां पढ़ें : http://हनी ट्रैप : पकड़ें गए मजूमदार दंपत्ति के पास मिले कई संदिग्ध समान, जांच में जुटी पुलिस

एक रिपोर्ट के अनुसार, यहां सब्जीवाले और दैनिक मजदूर पुलिस की वर्दी (Daily labor police uniform) में घूम रहे थे और ग्वालियर स्थित फोनी पुलिस थाने में बैठकर पुलिसकर्मी की तरह व्यवहार करते थे। इस गैंग ने न सिर्फ स्थानीय लोगों से पैसे वसूले बल्कि लोगों की शिकायतें भी दर्ज कीं। एक वरिष्ठ पुलिस अफसर के औचिक निरीक्षण से इस गैंग का खुलासा हुआ और एक डीएसपी स्तर के अधिकारी ने 2018 में मामले की जांच की। मध्य प्रदेश पुलिस ने इस रिपोर्ट को पूरी तरह गुप्त रखा था। गैंग के भंडाफोड़ खुलासा (Gang busted revealed) के बारे में व्यापम के मुखबिर रहे आशीष चतुर्वेदी ने बताया कि, एक अधिकारी दिसंबर 2017 में ग्वालियर मेला ग्राउंड में निगरानी कर रहे थे, तभी खाकी वर्दी में चार लोगों ने उन्हें सलाम ठोका।

यहां पढ़ें : http://बेमेतरा तालाब में जा गिरी कार, इसमें सवार 8 लोगों की जलसमाधि से मौत

जिस तरीके से खाकी वर्दीधारी ने उन्होंने सलाम ठोका (Khaki uniformed person saluted him), उससे उस अधिकारी को संदेह हुआ, इसके बाद अफसर ने चारों से परिचय पूछा, बदले में उन्हें जो जवाब मिला उसे सुन वे हैरान रह गए। दो ने बताया कि वे मजदूर हैं, एक ने खुद को पेंटर और एक ने सब्जीवाला बताया। इसके बाद एसपी नवनीत भसीन ने जांच के आदेश दिए थे। आशीष के अनुसार रिपोर्ट साफ है। जिसमें बताती है कि चारों आरोपी एक इंस्पेक्टर के निर्देश पर पुलिस का का कार्य कर रहे थे। जांच में यह भी सामने आया कि इंस्पेक्टर एक पुलिस थाने से संचालन (Inspector operating from a police station) कर रहा था जो पुलिस रिकॉर्ड में मौजूद ही नहीं है। अपनी रिपोर्ट में अधिकारी ने वसूली और भ्रष्टाचार की जांच की सलाह भी दी थी, लेकिन कुछ नहीं हुआ।

यहां पढ़ें : http://मेष, वृष, कर्क, सिंह तथा वृच्चिक के लिए सुनहरा समय, पढ़ें राशिफल

हमसे जुड़िए…

https://twitter.com/home

https://www.facebook.com/?ref=tn_tnmn

https://www.facebook.com/webmorcha/?ref=bookmarks

https://webmorcha.com/

https://webmorcha.com/category/my-village-my-city/

9617341438, 7879592500, 7804033123

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button