छत्तीसगढ़ में पसरा ओमिक्रॉन का डर, फिर रफ्तार हुई तेज, हो जाएं सतर्क

रायपुर। छत्तीसगढ़ में एक बार फिर कोविड का डर सताने लगी है। सोमवार को प्रदेश में कोविड के 49 नए संक्रमित मामले सामने आए हैं। दिसबंर माह में सबसे अधिक दर्ज की गई है। सबसे बड़ी चिंता कि बात ये है कि ओमिक्रॉन वैरिएंट की मौजूदगी की आशंका ने टेंशन बढ़ा दी है। हेल्थ विभाग अब सभी पॉजिटिव नमूनों को जीनोम सीक्वेंसिंग के लिए ओडिशा भुवनेश्वर की तैयारी में है।

प्रदेश में 49 संक्रमित मामले में 15 केवल रायगढ़ जिले से हैं। इसमें नवोदय स्कूल का एक छात्र और स्कूल के ही दो टीचर भी हैं। दो दिन पहले भी यहां 13 बच्चों को कोविड पॉजिटिव पाये गए थे। राजधानी रायपुर में भी 4 बच्चों कोविड संक्रमित हो चुके हैं। कॉन्टैक्ट ट्रेसिंग से सामने आया है कि पॉजिटिव पाए गए बच्चों के परिजन पहले से ही संक्रमित थे। वहां से संक्रमण बच्चों तक पहुंचा। बड़ी संख्या में बच्चों के संक्रमित मिलने के बाद हेल्थ विभाग में हड़कंप की स्थिति है।

CG में घरवाली ने पति के लिए नहीं छोड़ी शराब, पूरी पी गई, सुबह मिली लाश

हेल्थ विभाग ने इस मामले की जांच का निर्णय लिया है। जानकारों की एक टीम रायपुर से रायगढ़ भेजी जा रही है। महामारी नियंत्रण के संचालक डॉ. सुभाष मिश्रा (Dr. Subhash Mishra) ने बताया, लंबे समय बाद किसी क्लस्टर में इतने अधिक संक्रमित मामले सामने आए हैं। ऐसे में रायगढ़ में पॉजिटिव मिले सभी बच्चों के साथ-साथ पाजिटिव पाए जाने वाले सभी लोगों के सैंपल ओमिक्रॉन की जांच के लिए भुवनेश्वर (Bhubaneswar) भी भेजे जा रहे हैं।

रायगढ़ जिले में सबसे ज्यादा संक्रमित

प्रदेश भर इस समय 345 कोरोना मरीजों का उपचार जारी है। जिस जिले में कोविड के मामले हैं उनमें सबसे अधिक 96 मरीज रायगढ़ जिले में ही हैं। 64 मरीजों के साथ रायपुर राजधानी है। बिलासपुर में 42 और दुर्ग जिले में 40 मरीज एक्टिव हैं। सूरजपुर, जांजगीर-चांपा, कोरबा और महासमुंद में भी मरीजों की संख्या 12 से 17 तक है। केवल 4 जिले ऐसे हैं जहां अभी कोविड का एक भी केस नहीं है। इनमें बेमेतरा, सरगुजा, बलरामपुर और नारायणपुर शामिल हैं।

https://twitter.com/WebMorcha

 

https://www.facebook.com/webmorcha

 

https://www.instagram.com/webmorcha/

Back to top button