INH ऑपरेशन ब्लैक ऑउट के खुलासे में अफसर रिश्वत लेकर कर रहे थे बिजली कटौती, कार्रवाई से बचने पत्रकार पर कर दिया था एफआईआर  

रायपुर। बिजली विभाग में किस तरह मनमानी और रिश्वतखोरी चल रहा है। इसकी पूरी पोल खोल कर INH न्यूज चैनल ने शासन-प्रशासन के सामने रख दिया है। अफसर बिजली कटौती करने के लिए रिश्वत लेते रहे हैं। लेकिन, बिजली कटौती को लेकर सरकार को विभाग द्वारा लगातार गुमराह किया जाता रहा है। बता दें जून 2019 में महासमुंद जिले में बेवमीडिया WEBMORCHA.COM के पत्रकार दिलीप शर्मा ने एक खबर प्रकाशित किया, जिसमें गांवों की समस्या को लेकर 50 गांवों में 48 घंटे से ब्लैक आउट की खबर प्रकाशित किया।

यह खबर शासन-प्रशासन की नींद हराम कर दी थी, लेकिन इसमें विभागीय कार्रवाई के बजाए, इस खबर को विभाग ने फर्जी बताते हुए पत्रकार पर ही झूठे एफआईआर दर्ज करवा दी थी। और यहीं नहीं मामले को इतना संगीन बताया गया कि पत्रकार को आधी रात उनके बेडरूम से पुलिस ने चड्‌डी बनियान में ही गिरफ्तार कर लिया था। अब INH न्यूज चैनल के खुलासे के बाद एक बार फिर विभाग में हड़कंप मच गया है।

INH ने ऐसे किए खुलासे

INH न्यूज ने ऑपरेशन ब्लैक ऑउट ने बिजली विभाग के अधिकारियों की ईमानदारी खुलकर सामने आ गई है। दरअसल INH लीकिंग गुरू के द्वारा किए गए स्टिंग ऑपरेशन करवाया। जिसमें बिलासपुर, बालोद, कोरबा सहित कई जिलों के विद्युत अधिकारी पैसे (रिश्वत) लेकर बिजली कट करने की बात करते दिखे। INH द्वारा किए ‘ऑपरेशन ब्लैक ऑउट’ को देखकर सीएसपीडीसीएल के चेयरमैन शैलेंद्र शुक्ला ने निराशा जताते हुए इसे शर्मनाक बताया है। चेयरमैन  ने INH से बातचीत करते हुए कहा कि सभी जिम्मेदार अफसरों पर कार्रवाई की जाएगी। INH के अनुसार सभी संबंधित जगहों के अफसर दफ्तरों से नदारद दिखे। ऑपरेशन ब्लैक ऑउट के प्रसारण के बाद से सीएसपीडीसीएल के दफ्तर में बैठकों का दौर शुरू हो गया है। और दोषियों पर कार्रवाई की जाने की बात की जा रही है।

दुर्ग मे एई खिलेश्वर टंडन को अधीक्षण अभियंता ने जिला मुख्यालय में तलब किया है। वृत कार्यालय दुर्ग में बैठक चल रही है। एई खिलेश्वर टंडन पर बड़ी कार्रवाई हो सकती है। वहीं INH न्यूज़ की खबर पर बिलासपुर के बिजली विभाग में खलबली मच गई है। शहर के सरकंडा में पदस्थ जूनियर इंजीनियर डोमेन्द्र साहू को कार्यपालक निर्देशक (ईडी) भीम सिंह कंवर ने तलब किया। मीटिंग के बाद कार्यपालक निर्देशक भीमसेन कंवर जेई डोमेन्द्र साहू को कमरे में ले गए। इसी तरह बालोद में inh के ऑपरेशन ब्लैक आउट के दिखाए जाने के बाद सुरेगांव के जेई सुनील ठाकुर ने inh से बातचीत में कहा कि इन्वर्टर कंपनी वाले मार्केटिंग के लिए आये थे।

पर लेन देन की कोई बात नही हुई। मुझे किस बात के लिए निलंबित किया गया, नही पता। अभी आरोप पत्र नही मिला है। INH न्यूज के ऑपरेशन ब्लैक ऑउट प्रसारण के बाद से सभी जगहों में कार्रवाईयां की जा रही हैं। इधर रायपुर में वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए अफसरों की क्लास लगाई गई। और लगातार बैठकों का दौर चल रहा है ।सीएसपीडीसीएल के चेयरमैन शैलेंद्र शुक्ला ने सभी 9 सीई को जांच के आदेश दे दिए हैं। और पूरे प्रदेश में कटौती और रिश्वत लेकर बिजली काटने के संदिग्ध मामलों की जांच करने को कहा तथा रिपोर्ट मांगी।

इंनपुट सभार INH न्यूज

यहां देखिए

INH न्यूज

Leave a Comment