मैनपाट में ठेकेदार द्वारा कराई जा रही अवैध खुदाई को मंत्री अमरजीत भगत ने तत्काल रुकवाया

रायपुर। आज मंत्री अपने निर्वाचन क्षेत्र सीतापुर के तहत आने वाले क्षेत्रों के दौरे पर थे, इसी दौरान ग्राम पथरई के ग्रामीणों ने उनका काफिला रुकवा दिया। गुस्साई ग्रामीणों ने मंत्री अमरजीत भगत के काफिले का घेराव किया तो उन्होंने ग्रामीणों से उनके आक्रोश का कारण जानना चाहा। ग्राम पथरईवासी सीएमडीसी के ठेकेदार सुनील अग्रवाल के द्वारा कराई जा रही खुदाई से नाराज़ थे। उन्होंने सीएमडीसी द्वारा वादा पूरा न किये जाने का आरोप भी लगाया। उनका कहना था कि इस क्षेत्र में सीएमडीसी में स्थानीय लोगों को रोज़गार दिया जाएगा। ग्रामीणों ने मंत्री अमरजीत भगत को बताया कि सीएमडीसी में स्थानीय लोगों की उपेक्षा की जा रही है।

http://आगे वही बढ़ा है, जिसने कभी पीछे मुड़कर नहीं देखा : जिसकी जीती-जागती मिसाल देश की अग्रणी पीआर संस्था

 यहाँ ब्लास्टिंग होती है तो इससे खदान के आसपास रहने वालों का नुकसान होता है, इस नुकसान का मुआवजा भी लोगों को नहीं मिल रहा है। ब्लास्टिंग से पहाड़ और वन को क्षति पहुँच रही है, इसका दुष्प्रभाव पर्यावरण पर पड़ रहा है। मौके पर पता चला कि सीएमडीसी ठेकेदार ने ग्राम सभा के फर्जी सहमति पत्र के जरिये सीएमडीसी के लिये खुदाई का काम लिया था। यह मामला संज्ञान में आते ही खाद्य मंत्री अमरजीत भगत ने सरगुजा कलेक्टर को चर्चा और ग्रामीणों की इस समस्या का तत्काल निराकरण करने को फ़ोन पर निर्देशित किया। इस दौरान मौके पर तहसीलदार भी पहुंचे और पूरे मामले से अवगत हुए। उसके बाद तत्काल प्रभाव से खुदाई का काम रुकवा दिया गया, अब ग्राम सभा के साथ बैठक के बाद आगे कोई निर्णय लिया जाएगा। इस बीच यदि ठेकेदार रात में या लोगों की नज़र बचाकर खुदाई करने की कोशिश करता है तो उस पर पुलिस विभाग द्वारा उचित कार्यवाही की जाएगी।