कोमाखान

पहली बार.. 400 कीर्तन मंडली, 800 मृदंग वादक , 22 हजार लोग अन्य वाद्यय यंत्रो के साथ बसना नगर में करेंगे भ्रमण, गोल्डन बुक आफ वर्ल्ड रिकार्ड में नाम दर्ज करने तैयारी  

बसना। 20 मई को बसना नगर में भव्य नाम यज्ञ संकीर्तन एवं भंडारा का आयोजन किया जा रहा है। बताया गया कि इस तरह के आयोजन पहली बार हो रहा है। इसके लिए गोल्डन बुक आफ वर्ल्ड रिकार्ड में नाम दर्ज करने तैयारी हैं। नीलांचल सेवा समिति बसना द्वारा यह आयोजन किया जा रहा है। इस आयोजन में बसना विधानसभा से सभी कीर्तन मंडली भाग ले रहे हैं।

  • भव्य नाम यज्ञ संकीर्तन में 400 से अधिक कीर्तन मण्डली, 800 से अधिक मृदंग वादक तथा 22 हजार से अधिक लोग अलग-अगल प्रकार के वाद्यय यंत्रों से हरि नाम यज्ञ संकीर्तन का जाप करते हुए शहर का भ्रमण करेंगे।

इन रास्तों से होकर गुजरेगी रैली

  • नगर के मंगल भवन जगदीशपुर रोड, जूना तालाब, सराईपाली रोड़, दशहरा मैदान पदमपुर रोड़ एवं अग्रसेन भवन के पीछे से चारो स्थलों में भव्य रैली के साथ
  • नगर के मुख्य चौक शाहिद वीर नारायण सिह चौक में एकत्रित होकर रायपुर रोड़ होते कश्यप मेडिकल से होकर हाई स्कूल मैदान  तक पहुंचेंगे ,जहां हरि नाम यज्ञ संकीर्तन का जाप किया जाएगा।

ऐसे चल रहा गोल्डल बूक में नाम दर्ज करने की तैयारी

  • अग्रवाल ने बताया कि बसना विधानसभा का नाम पूरे वर्ल्ड में  जाना जाएगा,
  • 20 मई को हो रहे इस नाम यज्ञ संकीर्तन में विश्व स्तरीय “गोल्डन बुक आफ वर्ल्ड रिकार्ड ” की टीम निगरानी करेगी।

तैयार की गई पार्किग व्यवस्था

नीलांचल सेवा समिति द्वारा वाहनों की पार्किंग व्यवस्था के लिए शहर के चार स्थान नीलांचल भवन के सामने जगदीशपुर रोड़, दशहरा मैदान पदमपुर रोड़, जूना तालाब सराईपाली रोड, अग्रसेन भवन के पीछे की गई है।

विभिन्न सांस्कृतिक कार्यक्रम का आयोजन

  • इसके अलावा ओडिशा के सुप्रसिद्ध भजन गायक श्रीचरण महांती एवं ग्रुप द्वारा भजन संध्या की प्रस्तुति हरि नाम यज्ञ संकीर्तन स्थल हाई स्कूल मैदान में होगी।
  • कार्यक्रम में स्वामी केशव महाराज राष्ट्रीय प्रमुख हरे नाम हरे कृष्ण, श्रीराम बालक दास महात्यागी जी महाराज, स्वामी पारमात्मानंद महाराज, बाबा निरंजन दास आलेख महिमा आश्रम बसना, क्षेत्रीय साधु – संत, पुजारी एवं बसना विधानसभा से भारी संख्या में लोग नाम यज्ञ संकीर्तन कार्यक्रम में शामिल होंगे।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button