कोमाखानमहासमुन्द

कांग्रेस नेताओं ने कहा- ओवर ब्रिज निर्माण में विलंब के लिए पूर्व विधायक चोपड़ा है जिम्मेदार

महासमुंद। कांग्रेस ने ओवर ब्रिज निर्माण में विलंब के लिए पूर्व विधायक डा विमल चोपड़ा को जिम्मेदार बताया है। पूर्व विधायक डा चोपड़ा के आरोप पर पलटवार करते हुए कांग्रेस नेताओं ने निशाना साधते हुए कहा कि उनके अडंगेबाजी के कारण ही ओवर ब्रिज निर्माण में देरी हो रही है। अलबत्ता वे अब इसका ठिकरा दूसरे पर फोड़ रहे हैं। कांग्रेस नेता नरेंद्र दुबे, दाउलाल चंद्राकर, भागीरथी चंद्राकर, संजय शर्मा, लक्ष्मण पटेल प्रकाश राव साकरकर, हरबंश सिंह ढिल्लो, हुलास गिरी, भरत सिंह ठाकुर, खिलावन बघेल, शकील खान, दुर्गेश्वरी चंद्राकर, कृष्णा चंद्राकर, आवेज खान, आदि ने

जारी प्रेस नोट में बताया कि नगर से तुमगांव रोड़ पर ओव्हर ब्रिज की मांग के लिये वर्ष 2007 में पत्रकारगण, नागरिकगण एवं सभी पार्टियों के नेतागण डा. अम्बेड़कर चैक पर धरना दिए थे, जिसमें तत्कालीन निर्दलीय नपाध्यक्ष डा. विमल चोपड़ा शामिल नहीं थे। वर्ष 2008 में तत्कालीन विधायक पूनम चन्द्राकर के प्रयास से ओव्हर ब्रिज के लिये राज्य शासन ने राशि स्वीकृत की। ओव्हर ब्रिज निर्माण से डा. विमल चोपड़ा के खास समर्थकों की दुकानों के प्रभावित होने के कारण विरोध किया गया। ओवर ब्रिज को दलदली रेल्वे क्रासिंग में ले जाने का प्रयास भी डा. चोपड़ा द्वारा किया गया।

यहां पढ़ें : http://आज से सामान्य परिवारों का बनेगा राशन कार्ड, लिए जाएंगे आवेदन

जिसमें तत्कालीन मंत्री बृजमोहन अग्रवाल का समर्थन प्राप्त था। अगर डा. चोपड़ा विरोध नहीं करते तो वर्ष 2010 में नगर को ओव्हर ब्रिज की महत्वाकांक्षी जनसुविधा प्राप्त हो जाती। 10 वर्षों के विलम्ब के लिये डा. विमल चोपड़ा दोषी है। वर्ष 2017 में राज्य शासन के द्वारा पुनः राशि स्वीकृत की गई लेकिन आज 03 वर्षो में आधा कार्य भी नहीं हुआ है। जबकि वर्ष 2013 से 2018 तक डा विमल चोपड़ा निर्दलीय विधायक थे उनके द्वारा ओवर ब्रिज के शीघ्र निर्माण के लिये कोई प्रयास नहीं किया गया, अपितु शासकीय भूमि में कब्जाधारक अपने समर्थको को भूमिका मुआवजा दिलाने के लिये एडी चोटी का जोर लगाये हुये थे।

डा. विमल चोपड़ा एवं बृजमोहन अग्रवाल के दबाव के कारण भूमि अधिग्रहण नहीं होने से कार्य अपूर्ण है। विलम्ब के लिये भी डा विमल चोपड़ा दोषी है। विधायक श्री विनोद चन्द्राकर के द्वारा नगर में रेलवे लाइन पर दो अन्डर ब्रिज की मांग की गई है, उसमें भी डा. चोपड़ा को एतराज हो रहा है। विधायक के द्वारा रेलमंत्री को किये गये अन्डर ब्रिज की मांग की सर्वत्र प्रंशसा की जा रही है। जिसका विकास विरोधी डा. चोपड़ा द्वारा विरोध किया जा रहा है। क्योंकि नपाध्याक्ष और विधायक पद में रहते सभी का श्रेय लेने की आदत को छोड़ नहीं पा रहे हैं।

हमसे जुड़िए…

https://twitter.com/home

https://www.facebook.com/?ref=tn_tnmn

https://www.facebook.com/webmorcha/?ref=bookmarks

https://webmorcha.com/

https://webmorcha.com/category/my-village-my-city/

9617341438, 7879592500, 8871342716, 7804033123

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button