खुशखबरी: संचार क्रांति के तहत 5 अगस्त से नगरीय क्षेत्रों में किया जाएगा मोबाइल वितरण 

महासमुंद. कलेक्टर हिमशिखर गुप्ता ने मंगलवार को समय-सीमा की बैठक लेकर विभिन्न विभागों में चल रहे निर्माणमूलक एवं विकासमूलक गतिविधियों की समीक्षा की। अधिकारियों को आवश्यक दिशा-निर्देश दिए। कलेक्टर ने बैठक में बताया कि संचार क्रांति योजना (स्काई) के तहत पहले चरण में मोबाइल वितरण जिले के नगरीय निकायों में आगामी 5 अगस्त से किया जाएगा।

http://कर्क राशि के जातक जल्दबाजी न करें, मिथुन राशि के जातकों का आज का दिन उत्साहभरा

शहरी क्षेत्र में बांटने समय तय

  • 5 अगस्त 2018 को नगर पालिका क्षेत्र महासमुंद,
  • पिथौरा एवं सरायपाली,
  • 9 अगस्त को नगरीय क्षेत्र बसना,
  • 10 अगस्त को बागबाहरा
  • 12 अगस्त को तुमगांव नगर पंचायत में मोबाइल वितरण का कार्यक्रम संपन्न किया जाएगा।

इस संबंध में उन्होंने कहा कि नगर पालिका क्षेत्रों में दो दिनों में मोबाईल का वितरण किया जाएगा, वहीं नगर पंचायत क्षेत्रों में एक दिन में योजना के अंतर्गत हितग्राहियों को मोबाईल वितरण किया जाएगा।

http://बाइक में कीचड़ लगाकर 93 हजार उठाईगिरी करने वालों को क्राइम पुलिस ने फिल्मी स्टाइल में धर-दबोचा

इस संबंध में उन्होंने कहा कि नगरी क्षेत्रों में वितरण हेतु समुचित संख्या में वितरण केन्द्रों की स्थापना करना मुख्य नगर पालिका अधिकारी सुनिश्चित करें। इसके अलावा स्टोरेज की पर्याप्त व्यवस्था हो, वह स्थान सुरक्षित हो और किसी प्रकार के पानी का रिसाव आदि नहीं होवे, ऐसे स्थानों को चिन्हांकित करने के लिए उन्होंने अनुविभागीय अधिकारी (राजस्व) को भी निर्देशित किया है।

http://घेराव। पांच साल में नहीं बना आदिवासियों का वन अधिकार पट्‌टा, पंद्रह दिन का मिला आश्वासन

जिला कलेक्टर ने बैठक में कहा कि दूसरे चरण में जनपद पंचायतों में योजना अंतर्गत मोबाईल वितरण का कार्य संपादित होगा। इसके लिए इसी तरह की पुख्ता व्यवस्था सभी जनपदों के मुख्य कार्यपालन अधिकारीगण कर लेवे। महाविद्यालयों में स्काई योजना के तहत मोबाईल वितरण का कार्य महाविद्यालय परिसर से ही किया जाएगा।

http://शौचालय निर्माण में करोड़ों की गड़बड़ी लेकिन जांच नहीं, ग्रामीण प्रशासन का लगा रहे चक्कर

डाटा बेस साफ्टवेयर में किया जाएगा अपलोड

जिला कलेक्टर हिमशिखर गुप्ता ने कहा कि जिले में मतदान दलों के गठन के लिए जिले के सभी अधिकारी-कर्मचारियों का डाटा बेस निर्वाचन आयोग द्वारा प्रदत्त ऑनलाईन ’’कर्मचारी डाटा प्रवृष्टि साफ्टवेयर’’ (पीपीईएस) में दर्ज किया जाएगा।

http://शासन-प्रशासन के लिए अब गड्‌ढें बने मुसीबत: कांग्रेस ने हाइवे में बेशरम पौधे लगाकर किया प्रदर्शन

इस संबंध में उन्होंने सभी कार्यालय प्रमुखों को आगामी 5 अगस्त तक अपने तथा अधीनस्थ कार्यालयों के अधिकारी-कर्मचारियों का डाटा बेस साफ्टवेयर में अनिवार्य रूप से दर्ज कराने के निर्देश दिए गए हैं। प्रत्येक विभाग के जिला प्रमुखों को स्वयं के और अधिनस्थ कार्यालयों के अधिकारियों-कर्मचारियों की डाटा एन्ट्री अपने ही कार्यालय में करवाना है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button